_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"wahgazab.com","urls":{"Home":"http://wahgazab.com","Category":"http://wahgazab.com/category/uncategorized/","Archive":"http://wahgazab.com/2018/02/","Post":"http://wahgazab.com/this-holi-night-perform-these-remedies-to-get-over-all-your-troubles/","Page":"http://wahgazab.com/aadhaar/","Attachment":"http://wahgazab.com/this-holi-night-perform-these-remedies-to-get-over-all-your-troubles/wah-4-pic-1/","Nav_menu_item":"http://wahgazab.com/37779/","Custom_css":"http://wahgazab.com/flex-mag/","Oembed_cache":"http://wahgazab.com/38edcdf172ca4efbca56add1f895924c/","Wpcf7_contact_form":"http://wahgazab.com/?post_type=wpcf7_contact_form&p=38240","Mt_pp":"http://wahgazab.com/?mt_pp=14714"}}_ap_ufee

मृत्यु के 2 महीने बाद भी बौद्ध साधु का शव मुस्कुरा रहा है, आखिर ऐसा कैसे

मृत्यु

क्या मरने के 2 माह बाद भी कोई व्यक्ति अपनी कब्र से जीवित मुस्कुराता हुआ निकल सकता है। इन शब्दों को पढ़कर आप शायद “नहीं” ही कहोगे। जहां तक जन्म और मृत्यु का सवाल है तो हर व्यक्ति को जन्म लेना होता है और मौत को भी स्वीकार करना ही पड़ता है। मौत को इस जीवन का अंतिम सत्य माना गया है। बात चाहें किसी भी धर्म या सम्प्रदाय की हो। यह तथ्य सभी मानते हैं कि जन्म और मृत्यु का यह चक्र उस समय तक लगातार चलता रहता है जब तक मानव की आत्मा पूर्ण रूप से परमात्मा में विलीन नहीं हो जाती है। खैर हम जिस व्यक्ति की बात आपको बता रहें हैं वह एक बौद्ध संत रहें हैं। उनकी मृत्यु के बाद उनके शरीर को दफना दिया था। अब करीब 2 माह बाद जब उनका शरीर बाहर निकाला गया तो सभी लोग हैरान रह गए। असल में उनके शव के चेहरे पर एक अलग ही मुस्कान थी जो लोगों के आश्चर्य का कारण बनी। इस घटना के बाद सभी लोग हैरान रह गए और इस बौद्ध संत की तस्वीरें सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल होने लगी।

बौद्ध गुरु लुआंग फोर पियान का है यह शव

बौद्ध गुरु लुआंग फोर पियान का है यह शवImage source:

आपको सबसे पहले बता दें कि मृत्यु के बाद भी मुस्कान बिखेरता यह शव बौद्ध गुरु “लुआंग फोर पियान” का है। 2 माह पहले उनकी मृत्यु 92 वर्ष की उम्र हो गई थी। मृत्यु के बाद शव को दफ़न कर दिया गया था। अब 2 माह बाद उनका शव एक विशेष रस्म के लिए निकाला गया था। जब उनका शव बाहर निकाला गया तो सभी लोग हैरान रह गए।

मृत्यु Image source:

संत लुआंग फोर पियान के चेहरे पर एक अलग ही मुस्कान थी तथा उनका शव भी पहले की ही तरह सुरक्षित था। इस बात ने सभी को हैरानी में डाल दिया। संत लुआंग फोर पियान के करीबी शिष्यों का कहना है कि “शायद उनको ईश्वर ने मोक्ष प्रदान कर दिया है। उनके चेहरे की मुस्कान इसी का प्रतीक है। वे जन्म मरण से मुक्त हो चुके हैं।” इसी प्रकार के शब्द अन्य लोग भी संत लुआंग फोर पियान के बारे में कह रहें हैं। इस घटना से वैज्ञानिक भी हैरान हैं क्योंकि शव को दफन करने के बाद वह कुछ ही दिनों में खराब हो जाता है, पर संत लुआंग फोर पियान के शव के साथ ऐसा कुछ नहीं हुआ है।

Most Popular

To Top