_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"wahgazab.com","urls":{"Home":"http://wahgazab.com","Category":"http://wahgazab.com/category/uncategorized/","Archive":"http://wahgazab.com/2018/05/","Post":"http://wahgazab.com/look-at-the-video-how-a-child-falling-from-the-building-was-saved-by-people/","Page":"http://wahgazab.com/aadhaar/","Attachment":"http://wahgazab.com/the-gifts-received-in-the-royal-wedding-are-being-sold-online/jarry-2/","Nav_menu_item":"http://wahgazab.com/37779/","Custom_css":"http://wahgazab.com/flex-mag/","Oembed_cache":"http://wahgazab.com/1cad649c94e2db90e72cf2090a3860fa/","Wpcf7_contact_form":"http://wahgazab.com/?post_type=wpcf7_contact_form&p=38240","Mt_pp":"http://wahgazab.com/?mt_pp=14714"}}_ap_ufee

जोगिनी शिवमंदिर- जानिए इस चमत्कारी प्राचीन शिवालय के बारे में

जोगिनी शिवमंदिर

आपने बहुत से शिवालय देखें होंगे, पर क्या आपने जोगिनी शिवमंदिर को देखा है। यहां पर प्रतिदिन चमत्कार होता है। जिसको आप अपनी आंखों से देख सकते हैं। आपको बता दें कि उत्तर प्रदश की राजधानी लखनऊ का सबसे नजदीकी जिला बाराबंकी है। यहां पर महाभारत के समय के कई शिवालय तथा अन्य स्थान मौजूद हैं जिनको आप देख सकते हैं। इन्ही में से एक है “जोगिनी शिवमंदिर”, यह भी महाभारतकालीन शिवालय है। मान्यता है कि इसकी स्थापना पांडवकाल में हुई थी। इस शिवालय पर प्रति सोमवार भक्तों की भारी भीड़ जमा होती है तथा शिवरात्रि पर प्रतिवर्ष यहां विशाल मेला लगता है। इस मेले में उत्तर प्रदेश के अलावा अन्य प्रदेशों के शिवभक्त भी शिव पूजन के लिए आते हैं।

यह है शिवालय का चमत्कार  

यह है शिवालय का चमत्कार  Image source:

खास बात यह है कि इस प्राचीन शिवालय में नित्य ही चमत्कार देखने को मिलता है। आप भी इस चमत्कार के साक्षी बन सकते हैं। यह चमत्कार प्रतिदिन रात 12 बजे ही घटित होता है। असल में होता यह है कि हजारों लोगों की भीड़ होने के बाद भी रात 12 बजे कोई दिव्य आत्मा आकर इस शिवालय के शिवलिंग का पूजन कर जाती है और उसका कोई अहसास तक नहीं कर पाता है। यह चमत्कार प्रतिदिन रात्रि 12 बजे देखने को मिलता है। बहुत से लोगों का कहना है कि यह पूजन रात्रि में उच्च कोटि की योगनियां आकर गुप्त रूप से संपन्न करती हैं इसलिए ही इस शिवालय को जोगिनी शिवमंदिर कहा जाता है।

भक्तों की श्रध्दा का है केंद्र

भक्तों की श्रध्दा का है केंद्रImage source:

यह प्राचीन मंदिर लखनऊ-वाराणसी राष्ट्रीय राजमार्ग से जुडी हैदरगढ़ तहसील के शिवनाम ग्राम में मौजूद है। माना जाता है कि इस शिवालय का बहुत प्राचीन इतिहास है और आज भी दिव्य योगनियों द्वारा इसके शिवलिंग का पूजन सबसे पहले किया जाता है। स्थानीय निवासियों का कहना है कि इस शिवालय का शिवलिंग कभी खाली नहीं रहता बल्कि उस पर हमेशा फल-फूल आदि कुछ न कुछ पूजन संबंधी सामग्री चढ़ी ही रहती है। कुल मिलाकर आज भी नित्य यहां यह पूजन वाला चमत्कार देखने को मिलता है तथा यह जोगिनी शिवमंदिर आज भी लोगों की श्रद्धा का केंद्र बना हुआ है।

To Top