अंतरिक्ष में सफाई अभियान की तैयारी में लगा जापान

हमारी धरती तो प्रदूषण से ग्रस्त थी ही अब अंतरिक्ष में फैलता प्रदूषण भी हमारे लिए खतरा पैदा कर सकता है। जिसके लिए अमेरिकी अंतरिक्ष एजेन्सी नासा के अनुसार अंतरिक्ष में पृथ्वी की कक्षा में 5 लाख से अधिक कचरों का जाल फैला हुआ है। जिसकी सफाई की जिम्मेदारी जापान ने ली है।

बताया जाता है कि अंतरिक्ष की सफाई का जिम्मा उठाने के लिए वहां के कचरे को इकट्ठा करके उसे समेटेने के लिए 700 मीटर लंबा जाल बनाया गया है। जिससे वहां के कचरे को इससे बने जाल से आसानी से उठाया जा सके। इस जाल को बनाने के लिए एल्युमीनियम और स्टील के तार का प्रयोग किया गया है, इसे बनाने में 10 सालों का समय लगा हैं। कचरे को समेटने के लिए एक कार्गो शिप को भी अंतरिक्ष में भेजा जाएगा।

cd-space-2Image Source:

अंतरिक्ष में सैटेलाइट्स और रॉकेट के बेकार पड़े पुर्जे, इन कचरों में शामिल है। जो 28 हजार से भी ज्यादा किलो मीटर प्रति घंटे की पफ्तार से घूम रहें हैं। ”जापानी अंतरिक्ष एजेंसी इस कचरे को उठाने का ट्रायल अगले महीने से करेगी। यह प्रयोग अंतरराष्ट्रीय सफाई मिशन का एक अहम हिस्सा है।” यदि इस कचरे को समय पर नहीं हटाया गया तो यह हमारे नेटवर्क को नुकसान पहुंचा सकता है। इसके साथ ही उपग्रह भी इसकी चपेट में आ सकते हैं।

कचरे को उठाने के लिए बनाए गए जाल में लुब्रीकेटेड और इलेक्ट्रो डायनामिक से बनी रस्सियों से इतनी ऊर्जा विकसित होगी कि वह कचरे को अपनी ओर खींचने में सहायता करेगी। ट्रायल के बाद इस अबियान को दोबारा भी किया जाएगा।

To Top