भारत की ‘लौह महिला’ इंदिरा गांधी

-

इंदिरा गांधी अपनी प्रतिभा और राजनीतिक दृढ़ता के लिए विश्व राजनीति के इतिहास में जानी जाती हैं और इंदिरा गांधी को लौह महिला के नाम से संबोधित किया जाता है। वे देश की तीसरी और भारत की प्रथम महिला प्रधानमंत्री थीं।

Iron Lady of India Indira Gandhi2Image Source: https://saddahaq.blob.core.windows.net

गूंगी गुड़िया के नाम से बुलाई जाने वाली इस इंदिरा ने देश का परचम दुनिया भर में उस समय लहराया जब अस्थिरता का दौर था। पाकिस्तान में बांग्लादेशियों पर हो रहे अत्याचार का इंदिरा गांधी ने मुंहतोड़ जवाब दिया था। दुनिया के नक्शे पर बांग्लादेशी का उदय इंदिरा गांधी की देन थी। कूटनीतिज्ञ तौर पर भी दुनिया भर में इंदिरा गांधी की अलग पहचान थी। भारत को परमाणु संपन्न राष्ट्र बनाने की आधारशिला इंदिरा गांधी ने ही रखी थी। राजस्थान के पोखरण में पहला परमाणु परीक्षण कर पूरी दुनिया को चौंका दिया था। वो जितनी कुशल राजनीतिज्ञ थीं उतनी ही कुशल एक मां भी थी।

Indira GandhiImage Source: https://www.designemporia.in

एक सख्त प्रशासक के तौर पर उन्होंने अपनी एक अलग छवि बनाई थी। इसलिए आज भी उन्हें देश के सबसे मजबूत प्रधानमंत्रियों में से एक माना जाता है।

कहा जाए तो आज देश में जितने भी प्रधानमंत्री हुए हैं उन सभी की अनेक विशेषताएं हो सकती हैं, लेकिन इंदिरा गांधी के रूप में जो प्रधानमंत्री भारत भूमि को प्राप्त हुआ वैसा प्रधानमंत्री अभी तक दूसरा नहीं हुआ है, क्योंकि एक प्रधानमंत्री के रूप में उन्होंने विभिन्न चुनौतियों का मुकाबला करने में सफल भूमिका निभाई है। चाहे वो युद्ध हो, विपक्ष की गलतियां हों, कूटनीति का अंतर्राष्ट्रीय मैदान हो अथवा देश की कोई समस्या हो इंदिरा गांधी ने अक्सर स्वयं को सफल साबित किया।

Iron Lady of India Indira Gandhi3Image Source: http://i.ytimg.com/

इसी प्रकार का एक साहसिक कदम इंदिरा गांधी ने तब उठाया था जब पश्चिमी पाकिस्तान में रहने वाले बंगाली समुदाय पर पाकिस्तानी सेना का जुल्म बढ़ता जा रहा था। यहां तक कि वहां पर रहने वाले हिंदू अल्पसंख्यकों पर अत्याचार थमने का नाम ही नहीं ले रहा था। तब 27 मार्च 1971 को इंदिरा गांधी ने एक अहम फैसला लिया कि वह ईस्ट पाकिस्तान में चल रहे संघर्ष को खत्म करके रहेंगी और फिर भारत-पाक के बीच छिड़ गई जंग। इस युद्ध में पाक के 90,368 सैनिकों और नागरिकों ने सरेंडर किया था।

Iron Lady of India Indira Gandhi5Image Source: http://media.web.britannica.com/

देखा जाए तो कोई भी देश अपने विपक्षी की सराहना कभी नहीं करता, पर लोकसभा में भारत और पाकिस्तान के बीच हुए युद्ध पर चल रही चर्चा के दौरान अटल जी ने सदन में कहा था कि जिस तरह से इंदिरा ने इस लड़ाई में अपनी भूमिका अदा की है वह वाकई काबिल-ए-तारीफ है। उन्होंने कहा भी था कि हमें बहस को छोड़कर इंदिरा जी की भूमिका पर बात करनी चाहिए जो किसी दुर्गा से कम नहीं थी। उन्होंने उस समय यह बात कह कर राजनीति की एक नई मिसाल कायम की थी।

Share this article

Recent posts

भारत सरकार ने तीसरी बार दिया चीन को बड़ा झटका, Snack Video समेत 43 ऐप्स पर लगा दिया बैन

भारत और चीन के बीच चल रहे विवाद को देखते हुए एक बार फिर से भारत सरकार ने चीन को एक बड़ा झटका दिया...

इंटरनेशनल एमी अवॉर्डस 2020: निर्भया केस पर बनी सीरीज ने जीता बेस्ट ड्रामा अवॉर्ड

कोरोनावायरस की वजह से जहां हर किसी के लिए यह साल काफी मनहूस रहा है तो वहीं दूसरी ओर इस महामारी के बीच कुछ...

कामाख्या मंदिर में मुकेश अंबानी ने दान किए सोने के कलश, वजन जान भौचक्के हो जाएंगे

भारत के सबसे रईस उद्यमी मुकेश अम्बानी किसी ना किसी काम के चलते सुर्खियो में बने रहते है। आज के समय में अम्बानी परिवार...

कुंवारी लड़कियों के खून से नहाती थी ये महिला, वजह कर देगी आपको हैरान

अक्सर हम अखबारों में हत्या मारपीट की घटनाओं के बारें में रोज पढ़ते है। लेकिन कुछ लोग अपने शौक को पूरा करने के लिए...

आसमान से गिरी ऐसी अद्भुत चीज़, जिसे पाकर रातों रात करोड़पति बन गया यह आदमी

जब आसमान से कुछ आती है तो लोग आफत ही जानते हैं। लेकिन अगर यह कहें कि आसमान से आफत नहीं धन वर्षा हुई...

Popular categories

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Recent comments