इन देशों में बेजुबान जानवरों को दी जाती है दर्दनाक मौत

0
770

अक्सर देखा जाता है कि जब इंसान गलती करते है तो उसकी तुलना जानवर से की जाती है। पर सही मायने में तो आज के समय में इंसान से बेहतर जानवर होते है, जो किसी को बेवजह दुख नहीं देते। आज के समय में जिस तरह से पूरी दुनिया में बेजुबान जानवरों पर अत्याचार किया जा रहा है उसे देखकर आपके भी रौंगटे खड़े हो जाएंगे। लोग अपने स्वार्थ को पूरा करने के लिए इनकी हत्या कर देते हैं। आज हम आपको जानवरों पर होने वाले कुछ ऐसे अत्याचारों के बारे में बताएंगे जिन्हें जानकर आप भी हो जाएंगे हैरान…

चीन-
यह वो देश है जिसका शासक भी एक क्रूर तानाशाह है। यहां पर जिस तरह से जानवरों को मारा जाता है, ठीक उसी प्रकार से भी ये तानाशाह वहां के लोगों की हत्या करने में एक पल भी नहीं सोचता। यहां पर ना जाने कितनें जानवरों की हत्या रोज की जाती है। जिन्हें तड़पा-तड़पा कर मारा जाता है। कभी जिंदा कुत्तों को गर्म पानी में डालकर उबाला जाता है तो कहीं जानवरों की खाल निकालने के लिए उन्हें मार दिया जाता है। उसके बाद उनके शरीर में गर्म तेल डालकर उनकी खाल उतार ली जाती है। जिसे वो भारी कीमत के साथ दूसरे देशों में निर्यात करते है।

animal-sacrifices1Image Source:

जानवरों पर किए जाने वाली रिसर्च के लिए भी उनकी जान लेना कोई आम बात नहीं है। प्रयोगशाला में चूहे चिड़िया, कुत्ते, बंदर, खरगोश, जैसे जानवरों की शारीरिक जानकारी हांसिल करने या खाद्य पदार्थ दवाईयों की टेस्टिंग करने के करोड़ों की संख्या मारे जाते है।

स्पेन- Bullfighting की वजह से मरते हैं सांड
स्पेन नामक देश में लोग सांड़ो के खेल से लोगों का मनोरंजन करते है उस दौरान उन्हें प्रताड़ित करके उकसाया जाता है। जब वह गुस्सें में उत्तेजित होकर सामने वाले पर हमला करता है, तो अपने बचाव के लिए ये लोग उसे एक धारदार हथियार से मार डालते है। इस तरह से लोगों के मनोरंजन के उपयोग में लाये जाने वाले खूनी खेल में हर साल 40 हज़ार से भी ज़्यादा सांड़ मारे जाते है।

animal-sacrifices2Image Source:

भारत-
भारत एक ऐसा देश है जहां पर सबसे ज्यादा चमड़ा निर्यात होता है। भारत में एक ओर जहां जानवरों को मारना गैरकानूनी है तो दूसरी ओर छुपे रूप से लोग इनकी हत्या का गंदा खेल खेल रहे है। हमारे देश में स्वस्थ जानवरों को मारना गैरकानूनी है, इसलिए इनकी हत्या करने के लिए इन्हें मार मार कर अपंग बना दिया जाता है।

animal-sacrifices3Image Source:

कई स्वार्थी लोग गाय-भैंस भेड़-बकरियों को कई मीलों तक भूखे प्यासे रखकर पैदल चलाते हैं, जिससे वो कमजोर होकर गिरने लगते है। इतना ही नहीं उनकी आंखों में मिर्च का पाउडर झोंक कर उन्हें काफी तड़पाया जाता हैं। इसके बाद उन्हें अस्वस्थ घोषित कर मार दिया जाता है। हमारे देश में ही लाखों की संख्या में बड़े-बड़े ट्रकों में ठूंस-ठूंस कर जानवर कर्नाटक, केरल, मुम्बई और अन्य राज्यों में हलाल करने के लिए भेजे जाते है। जबकि इस देश में जानवरों को मारना गैरकानूनी बोला गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here