एक साध्वी कैसे बन गई हसीन मॉडल

कहा जाता है कि किसी की दबी हुई योग्यता को कोई छुपा नहीं सकता। अगर आगे बढ़ने का सही हुनर हो तो सफलता उसके कदम चूमने को बेचैन रहती है। दुनिया में ऐसे कई स्टार हैं जिन्हें अपने मुकाम तक पहुंचने के लिए काफी स्ट्रगल करना पड़ा और मेहनत, शिखर तक पहुंचने की चाहत ने उन्हें बुलंदियों तक पहुंचाया भी है। इसी तरह की उम्मीद के साथ एक साध्वी ने अपने अंदर की छुपी कला को निखारने की कोशिश की। फैशन की दुनिया में कदम रखने और शोहरत पाने की ललक ने उसे साध्वी से मॉडल बना दिया। थाईलैंड की रहने वाली 22 साल की मिमी ताओ आज एक ट्रांसजेंडर बिकनी मॉडल हैं। ताओ बचपन में एक साध्वी थीं।

ModalImage Source: http://static.punjabkesari.in/

कुछ स्टार्स का अतीत ऐसा होता है जिस पर यकीन कर पाना बेहद मुश्किल होता है, पर इस साध्वी की दास्तां कुछ अलग ही थी। मिमी जब 12 साल की थीं तो उन्हें टेंपल स्कूल में पढ़ाई करने के दौरान मठ भेज दिया गया। मठ में लोगों का जीवन बड़ा सादा और नियमबद्ध होता है। मिमी और उनकी चार फ्रेंड्स जिन्हें इस सादगी से भरे लोगों से दूर चकाचौंध का जीवन अच्छा लगता था ये लोग छुप-छुपकर मेकअप किया करती थी। इनकी दुनिया कुछ अलग थी, जहां पर ये जल्द ही कि उड़ान भरना चाह रही थी और उनकी चाह भी थी के यहां से जाने के बाद वे माडॅल बनेंगी। शुरूआत में काफी रिजेक्शन के बाद आज मिमी एक सफल मॉडल हैं।

मिमी कहती हैं वे एक बार फिर मठ में जाकर साध्वी बनना चाहती हैं। मिमी ने अपनी तस्वीरें इंस्टाग्राम अकाउंट पर भी साझा की हुई हैं।

To Top