दुल्हन ढूंढ़ने का ये अनोखा विज्ञापन पढ़ कर आप हंसने से खुद को रोक नहीं पाएंगे

0
406

आपने अखबारों में कई विज्ञापन देखे होंगे। किसी को जॉब या फिर किसी को अपने हमसफर की तलाश होती है, लेकिन मध्यप्रदेश के नीमच जिले के रहने वाले एक जनाब भी अपनी हमसफर की तलाश में हैं। इस 35 वर्षीय शख्स का नाम जगदीशचंद्र रेगर है। जिसने अपने हमसफर की तलाश के लिए अखबार में इश्तहार दे डाला, लेकिन अब वो विज्ञापन सुर्खियां बटोर रहा है। ये जानने के लिए तो आप भी इच्छुक होंगे कि जनाब ने ऐसा क्या लिख दिया। आपको बता दें कि वैसे तो लोग जब अपने लिए दुल्हन ढूंढ़ते हैं तो दूसरे तरह की शब्दावली का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन इस शख्स का इश्तेहार पढ़ कर हंसते-हंसते आपके पेट में दर्द होना निश्चित है। पढ़ें यह विज्ञापन-

”एक बेचारो, मुसीबत को मारो, जगदीश कुंवारो

इसको लड़की की तलाश है,

इस विज्ञापन से बड़ी आस है”

”लूली, लंगड़ी, कानी, खोड़ी तक चल जाएगी और विधवा औरतों को पहले प्राथमिकता दी जाएगी। न जात-न पात, न ऊंच-न नीच, काली हो या गोरी, मोटी हो या छोटी, लड़की ऐसी हो जो सिर्फ चाहने वाली हो, जगदीश का अगर जीवन भर साथ निभाएगी तो सारी वसीयत पाएगी। 20 से 40 वर्ष तक कोई भी महिला संपर्क कर सकती है।”
”नोट- विधवा, बेसहारा, अनाथ व बच्चों वाली महिलाओं को पहले प्राथमिकता।”

matrimonial advertisementImage Source:

इस विज्ञापन को लोग खूब चटखारे लेकर पढ़ रहे हैं। यहां तक कि ये खबर सोशल मीडिया पर वायरल हो चुकी है, लेकिन आपको बता दें कि इन सब से तंग आकर जगदीश चंद्र घर से गायब हो चुके हैं। ग्रामीणों का कहना है कि जगदीश चंद्र की उम्र काफी ज्यादा हो गई है। जिसके चलते उसे ये बात रोज खटकती थी। इसलिए दुल्हन की खोज में इश्तेहार दे डाला।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here