_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"wahgazab.com","urls":{"Home":"http://wahgazab.com","Category":"http://wahgazab.com/category/uncategorized/","Archive":"http://wahgazab.com/2017/12/","Post":"http://wahgazab.com/consequences-for-working-overtime-got-serious-lost-job/","Page":"http://wahgazab.com/aadhaar/","Attachment":"http://wahgazab.com/consequences-for-working-overtime-got-serious-lost-job/consequences-for-working-overtime-got-serious-lost-job-cover/","Nav_menu_item":"http://wahgazab.com/37779/","Custom_css":"http://wahgazab.com/flex-mag/","Wpcf7_contact_form":"http://wahgazab.com/?post_type=wpcf7_contact_form&p=38240","Mt_pp":"http://wahgazab.com/?mt_pp=14714"}}_ap_ufee

कलाई के जादूगर मोहम्मद अजहरुद्दीन को ‘हैप्पी बर्थ डे’

मोहम्मद अजहरुद्दीन भारतीय क्रिकेट का एक ऐसा नाम है जिसे कलाई के जादूगर के रूप में जाना जाता है। अजहरुद्दीन अपने समय के सबसे अच्छे बल्लेबाज होने के साथ-साथ एक-एक बेहतरीन फील्डर भी हैं। इनका जन्म हैदराबाद में 8 फरवरी 1973 को हुआ था। इन्होंने अपनी पढ़ाई हैदराबाद से ही पूरी की है।

अजहरुद्दीन ने अपने क्रिकेट करियर की शुरूआत इंगलैंड के खिलाफ साल 1984 के आस-पास की थी। अपने पूरे क्रिकेट करियर में उन्होंने अभी तक 99 टेस्ट मैच खेले हैं। इसके अलावा उन्होंने अभी तक कुल 21 अर्धशतक और 22 शतक की मदद से 6215 रन भी बनाए हैं। उन्होंने अपने जीवन में अभी तक जो कुछ भी किया है उसमें अपना 100 पर्सेन्ट ही दिया। इसके अलावा उन्होंने अपने एकदिवसीय करियर की शुरूआत इंग्लैंड के ही खिलाफ 1985 में खेले गए मैच से की थी।

उन्होंने अभी तक कुल 334 एकदिवसीय मैच खेले हैं, जिनमें उन्होंने 58 अर्धशतक और 7 शतक की मदद से 9378 रन बनाए हैं। वैसे खिलाड़ी के अलावा उन्होंने एक कप्तान के रूप में भी काफी अच्छे से अपनी जिम्मेदारियों को निभाया है। उनकी कप्तानी के समय भारत ने 103 मैच जीते हैं, जो कि एक रिकॉर्ड को रूप में ही जाना जाता है। इसके अलावा उनकी कप्तानी में भारतीय टीम ने 14 टेस्ट भी जीते हैं।

1Image Source: http://i1.tribune.com.pk/

अपने लंबे क्रिकेट करियर में उन्होंने अभी तक बहुत सारे उतार-चढ़ाव भी देखे। जब वो अपने करियर का 100वां टेस्ट मैच खेल रहे थे तो उसी दौरान उन पर मैच फिक्सिंग का भी आरोप लगाया गया था। जिसके कारण बीसीसीआई ने उन पर प्रतिबंध भी लगा दिया था, लेकिन एक लंबे समय तक क्रिकेट से दूर रहने के बाद उन्होंने भारतीय क्रिकेट में बतौर एक कप्तान हिस्सा लिया। वैसे आपको बता दें कि इससे पहले भारतीय टीम को सौरभ गांगुली संभाल रहे थे। जिसके बाद उन्हें भारतीय टीम की अगुवाई करने का मौका मिला।

Most Popular

To Top