_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"wahgazab.com","urls":{"Home":"http://wahgazab.com","Category":"http://wahgazab.com/category/uncategorized/","Archive":"http://wahgazab.com/2017/04/","Post":"http://wahgazab.com/woman-trafficking-takes-place-here-which-costs-99-rupees/","Page":"http://wahgazab.com/addd/","Attachment":"http://wahgazab.com/?attachment_id=37006","Nav_menu_item":"http://wahgazab.com/28118/","Wpcf7_contact_form":"http://wahgazab.com/?post_type=wpcf7_contact_form&p=154","Mt_pp":"http://wahgazab.com/?mt_pp=14714"}}_ap_ufee

इस मंदिर में मां काली अपनी सेना संग देती है साक्षात दर्शन

भारत में कई ऐसे मंदिर है, जिन्हें उनके चमत्कारों के लिए काफी माना जाता है। ठीक इसी तरह उत्तर भारत में एक ऐसा मंदिर भी स्थित है, जहां पर काली मां दर्शन देकर अपने भक्तों को खुश करती हैं। इस जगह पर आने वाले भक्तों को मां काली के साथ ही उनके सेना के भी दर्शन होते हैं।

अब आप सोच रहे होंगे कि ऐसा मंदिर भला भारत में किस जगह पर स्थित है, तो हम आपको बता दें कि जब बात मां के दर्शन की हो, तो मां देवभूमि में दर्शन देने के अलावा और भला कहां दर्शन देंगी। देवभूमि में माता भगवती महाकालिका का एक ऐसा दरबार है, जहां पर अक्सर ऐसे चमत्कारों को देखा जा चुका है।

Mahakali Temple Gangolihat, Pithorgarh1Image Source:

यह मंदिर उत्तरांचल में स्थित पिथौरागढ़ के गंगोलहाट नाम के स्थान पर बना हुआ है, यहां पर जाकर आपको मां काली से जुड़ी कई बाते या कहानियां सुनने को मिल सकती हैं। इस मंदिर की यह मान्यता है कि जो भक्तजन श्रृद्धापूर्वक महाकाली के चरणों में पुष्प अर्पित कर पूजा करता है, वह शोक, रोग, महान विपदा और दरिद्रता से दूर रहता है।

इस मंदिर में काली मां की अरचना करने के लिए भक्तजन काफी दूर से आते हैं। महाकाली के लिए यह कहां जाता है कि जब रात के समय कालिका मां की डोली चलती है, तो इस डोली में कालिका मां के आंण, बांण और गण की पूरी सेना भी साथ-साथ चलती है। जिसे इस गांव के कई लोगों ने अपनी आंखों से देखा है।

Most Popular

To Top