सबसे कम उम्र में अशोक चक्र पाने वाली पहली महिला थीं नीरजा

0
1034

5 सितंबर सन् 1986 के दिन कराची एयरपोर्ट पर 4 फिलिस्तीनी आतंकवादियों ने पैन एम फ्लाइट-73 को हाइजैक कर लिया था। तब उस फ्लाइट में नीरजा भनोट फ्लाइट अटेंडेंट के तौर पर मौजूद थीं और फ्लाइट में 360 पैसेंजर थे। इस दौरान नीरजा ने आतंकवादियों से लड़कर सारे यात्रियों की जान बचाई थी। इस हादसे में एक चश्मदीद गवाह ने बताया था कि नीरजा को आतंकवादी ने सिर पर गोली मारी थी। इस हादसे के बाद नीरजा को ‘द हीरोइन ऑफ द हाईजैक’ के नाम से जाना जाता है। सिर्फ यही नहीं नीरजा भनोट को भारत की वीर बेटी के नाम से भी कहा जाता है।

neerja_601732758Image Source :http://www.africanseer.com/

कई सारे वीरता पुरस्कारों से नवाजा गया

Nirja-Bhanot-story-lead-collage-1920x1080Image Source :http://www.cntraveller.in/wp-content/

7 सितंबर 1963 को जन्मी नीरजा को कई सारे पुरस्कारों ने सम्मानित किया गया था। भारत की ओर से उन्हें अशोक चक्र से नवाजा गया। ये पहली महिला थीं जिन्हें इतनी कम उम्र में अशोक चक्र अवॉर्ड से सम्मानित किया गया। सिर्फ भारत ही नहीं पाकिस्तान की ओर से उन्हें तमगा ए इंसानियत दिया गया। स्पेशल करेज अवॉर्ड, यूनाइटेड स्टेट्स अटॉर्नीज ऑफिस फॉर द डिस्ट्रिक्ट ऑफ कोलंबिया, यूएस गवर्नमेंट और इंडियन सिविल एविएशन मिनिस्ट्रीज अवॉर्ड जैसे सम्मानों से भी नवाजा गया।

नीरजा भनोट की बायोपिक

724e642ae8c5fe7dc58fcb2d7a041542-Image Source :http://i.ndtvimg.com/i/2016-02/

नीरजा की जिंदादिली की कहानी से प्रेरित होकर मेकर राम मधवानी ने इस पर आधारित फिल्म बनाई। जिसमें नीरजा की भूमिका स्टाइलिश डिवा सोनम कपूर ने निभाई है। ये मूवी 19 फरवरी को रिलीज हो रही है। इस फिल्म प्रमोशन के दौरान सोनम कई बार भावुक होती नजर आईं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here