_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"wahgazab.com","urls":{"Home":"http://wahgazab.com","Category":"http://wahgazab.com/category/uncategorized/","Archive":"http://wahgazab.com/2017/10/","Post":"http://wahgazab.com/a-tortoise-travlled-10-kms-to-meet-its-girlfriend-know-the-whole-story-here/","Page":"http://wahgazab.com/aadhaar/","Attachment":"http://wahgazab.com/?attachment_id=42031","Nav_menu_item":"http://wahgazab.com/37779/","Wpcf7_contact_form":"http://wahgazab.com/?post_type=wpcf7_contact_form&p=38240","Mt_pp":"http://wahgazab.com/?mt_pp=14714"}}_ap_ufee

नई नौकरी – भैंस को चारा खिलाएं और 25 हजार रूपए महीना पाएं

ajab gajab

 

सामान्यतः भैंस का दूध बेच कर लोग पैसे कमाते हैं, पर हाल ही में भारत में इस क्षेत्र में में नौकरी भी निकली है। जिसमें आपको सिर्फ भैंस को चारा खिलाना है और ऐसा करने वाले को सैलरी के रूप में 25 हजार रूपए मिल रहें हैं। जी हां, यह खबर हाल ही की है जिसको जानकर सभी लोग हैरान हैं, क्योंकि आज के समय में जहां पढ़ें लिखे लोगों को भी शुरूआत में 25 हजार रूपए प्रति महीने की सैलरी नहीं मिल पाती है वहीं अनपढ़ या कम पढ़े लिखे लोगों को 25 हजार की सैलरी हर महीने मिल रही है। इसी वजह से यह खबर सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रही है। आज हम आपको इस खबर के बारे में ही बता रहे हैं कि आखिर कैसे इतनी ज्यादा सैलरी कम पढ़े लिखे लोगों को मिल रही है तो आइए अब विस्तार से जानते हैं इस बारे में।

ajab gazabImage Source:

यह खबर है “झट्टा” नामक गांव की। यह गांव उत्तर प्रदेश का ही एक गांव हैं जो कि नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस वे के पास में ही है। इसी गांव के किसानों ने लोगों को अपने पशुओं को चराने के लिए नौकरी पर रखा है और ऐसे लोगों को किसान 25 हजार रूपए प्रति महीने की सैलरी दे रहें हैं। इसी गांव के स्थानीय निवासी सोहनपाल सिंह ने इस बारे में बताते हुए कहा कि जो लोग आज चरवाहों का कार्य कर रहें हैं, वे लोग असल में हमारी फसल की बुवाई तथा कटाई के लिए आते थे। इस गांव के ही अन्य लोग बताते हैं कि इस गांव में किसानों में बड़ी संख्या में पशु पाले हुए हैं और खेती को देखते हुए किसानों के पास में पशुओं को चराने का समय नहीं था, इसलिए उन्होंने पशुओं को चराने के लिए अन्य लोगों को नौकरी पर रख लिया है। एक अन्य किसान अनंगपाल कहते हैं कि एक भैंस प्रतिदिन औसतन 8 से 10 लीटर दूध देती है जिससे करीब 15 हजार की आमदनी किसान को हर महीने होती है और किसानों के पास में क्योंकि बहुत सी भैंसे होती हैं इसलिए आमदनी भी काफी होती है। अतः यदि कोई 20 या 25 हजार रूपए की सैलरी लेकर हर महीने भैसों को चरा देता है तो इसमें कोई हानि नहीं है। इस प्रकार से अब किसान लोगों को 25 हजार की सैलरी भैंस चराने के नाम पर दे रहें हैं।

Most Popular

Latest Hindi Songs Lyrics
Latest Punjabi Songs Lyrics
Latest HIndi Movies Songs Lyrics
To Top
Latest Hindi Songs Lyrics
Latest Punjabi Songs Lyrics
Latest HIndi Movies Songs Lyrics
Latest Punjabi songs
Latest Punjabi songs 2017 by Mr Jatt