नोटबंदी से खुलासा – पति कर्ज में डूबा था और पत्नी ने छुपा रखें थे 22 लाख रूपए

प्रधानमंत्री नरेन्द्रमोदी ने जब नोटबंदी की घोषणा की थी तब से आजतक बहुत से लोग अपने पुराने नोटों को बदलवाने के लिए तथा नए नोट निकालने के लिए लगातार बैंकों के चक्कर काट रहें हैं। ऐसे में बहुत लोग इसलिए परेशान हैं ताकि उनके नोट बदलने या जमा होने से पहले कहीं प्रधानमंत्री जी की दी हुई डेट निकल न जाएं, अतः शादीशुदा लोग अपनी पत्नियों से कह रहें हैं कि यदि घर में पैसे रखें हो तो वे दे दें ताकि समय पर पैसे बदलवाए जा सकें।
ऐसे में एक अजीबोगरीब मामला सामना आया है जिसमें माहन सिंह गेट निवासी एक व्यक्ति कारोबार के चक्कर में काफी लोगों का कर्जदार हो चुका था और उसकी स्थिति इतनी खराब हो चुकी थी कि अब वह अपने घर को छोड़ कर अपने रिश्तेदारों के घर पर रहता था।

pic-2image source:

उसने अपनी पत्नी से भी कई बार यह कहा कि यदि घर में कुछ पैसे रखें हो तो वह उसको दे दें ताकि वह कर्ज से मुक्त हो अपने व्यापार को दोबारा शुरू कर सकें पर उसकी पत्नी से उस व्यक्ति को हमेशा ही पैसे न होने का ही विश्वास दिलाया, पर जब प्रधानमंत्री द्वारा नोटबंदी की घोषणा की गई तो यह सब सुनकर इस व्यक्ति की पत्नी के होश उड़ गए और इस महिला ने अपने पति को एक दिन अपने पास बुलाकर कहा कि मेरे पास में कुछ पैसे रखें हुए हैं, उनको आप बैंक में जमा करवा दें, ताकि हमें नए नोट मिल सकें। कुछ ही समय में महिला अपने पास रखें पैसे निकाल कर ले आई और जब उन पैसों को गिना गया, तो वे 22 लाख निकले जिसके बाद में महिला और उसके पति में काफी समय तक तकरार हुई और वर्तमान में पति ने अपनी पत्नी के खिलाफ तलाक की याचिका डालने के लिए मन बना लिया है।

To Top