लोकसभा में जब गूंज उठा लद्दाख के सांसद का भाषण तो फेसबुक पर आ गई रिक्वेस्ट की बाढ़

लोकसभा में जब सांसद के लोग मौजूद हों, और वहां गर्मजोशी का माहौल ना बने, ऐसा हो ही नहीं  सकता क्योंकि  मंत्री से लेकर सांसद लोग अपनी बात को सामने रखते हैं  जिसके चलते विरोधी पार्टी के लोग उस पर दबाब बनाने की कोशिश भी करते हैं  लेकिन जब सही समय पर सही जबाब मिल जाये तो उसकी चर्चा लोकसभा के अंदर से लेकर बाहर तक होने लगती है। ऐसे ही गर्मजोशी के साथ जबाब देने के लिये चर्चित हो रहे हैं  लद्दाख से बीजेपी सांसद जमयांग शेरिंग नमग्याल.. जो लोकसभा में आर्टिकल 370 पर चल रही बहस में अपनी स्पीच देकर रातोंरात चर्चित हो इतने चर्चित कि लोगों की उनके फेसबुक पर रिक्वेस्ट थमने का नाम ही नहीं ले रहीं जिसके बाद उन्हें कहने को मजबूर होना पड़ा- अब नहीं बना सकता मैं फेसबुक पर दोस्त।

“कितने पानी में कितना नमक घोला जाये ये उसकी लिमिट पर निर्भर करता है। ऐसा ही फेसबुक के साथ है। इसमें भी दोस्तों की गिनती का एक कैप होता है। जिसमें आप केवल 5,000 तक ही दोस्त बना सकते हैं। इसके बाद लोगों के पास आपको फॉलो करने का ऑप्शन होता है। आप फ्रेंड जोड़ नहीं सकते। यही जमयांग के साथ हुआ है।

7 अगस्त को उन्होंने डिस्क्लेमर देते हुए फेसबुक पर लिखा-

लद्दाख

“मैं यहां पर अब और फ्रेंड रिक्वेस्ट स्वीकार नहीं कर सकता हूं। यहां 5,000 की फ्रेंड लिमिट होती है। मैं यहां अपने ऑफिशल पेज का लिंक दे रहा हूं। इसे लाइक कीजिए और मेरे साथ जुड़े रहिए”।

जमयांग ने लोकसभा में कांग्रेस की नीतियों पर सवाल उठाते हुये और लद्दाख का पक्ष रखते हुए काफी प्रभावी भाषण दिया था। उन्होने आर्टिकल 370 हटाने पर अपना विचार रखते हुये कहा कि लद्दाख पिछले 70 सालों से केंद्र शासित प्रदेश का दर्जा हासिल करने की मांग कर रहा हैं। उन्होंने कहा कि यदि लद्दाख का विकास कम हुआ है, और इसे हमेशा उपेक्षित रखा गया है तो इसके लिए जिम्मेदार कांग्रेस और आर्टिकल 370 हैं। उनकी स्पीच में इतना जोश था कि हर कोई मेज  थपथपाने को मजबूर हो रहा था। यहां तक कि गृहमंत्री अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी उनकी तारीफ करते नही थक रहे हैं।

लद्दाख

जमयांग 34 साल उम्र के एक युवा सांसद हैं अभी राजनीति में उनकी नयी शुरूआत है। साल 2012 में लेह के अंदर बीजेपी दफ़्तर के केयरटेकर के तौर पर उन्होंने राजनीति में शुरुआत की। फिर लद्दाख की ही सीट से चुनाव जीतकर सांसद बने।

अधिक जानने के लिये देखें विडियो

To Top