_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"wahgazab.com","urls":{"Home":"http://wahgazab.com","Category":"http://wahgazab.com/category/uncategorized/","Archive":"http://wahgazab.com/2018/04/","Post":"http://wahgazab.com/bottles-of-water-are-being-used-to-save-this-seven-hundred-year-old-tree/","Page":"http://wahgazab.com/aadhaar/","Attachment":"http://wahgazab.com/bottles-of-water-are-being-used-to-save-this-seven-hundred-year-old-tree/glucose-2/","Nav_menu_item":"http://wahgazab.com/37779/","Custom_css":"http://wahgazab.com/flex-mag/","Oembed_cache":"http://wahgazab.com/0f66939619e6f091493652639d567514/","Wpcf7_contact_form":"http://wahgazab.com/?post_type=wpcf7_contact_form&p=38240","Mt_pp":"http://wahgazab.com/?mt_pp=14714"}}_ap_ufee

Funny Pics – ये तस्वीरें देख हो जाएंगे लोट-पोट, हंसी रोकनी हो जाएगी मुश्किल

हंसी

 

कभी कभी सोशल मीडिया पर कुछ ऐसी तस्वीरें वायरल होती है जिनको देखकर आपकी हंसी रुकने का नाम नहीं लेती। ऐसी ही कुछ तस्वीरें यहां दिखाने वाले हैं जिनको देख कर आपकी हंसी रुकने का नाम नहीं लेगी। ये तस्वीरें बहुत तेजी के साथ सोशल मीडिया पर वायरल हो रहीं हैं। लोग इन तस्वीरों को खूब शेयर कर रहें हैं।

हंसीImage Source: 

1 – यह तस्वीर आपको भारतीय मीडिया का असल चेहरा दिखाती हैं। जब कोई खबर नहीं मिल पाती तब हमारे न्यूज़ चैनल कुछ ऐसा करते हैं जिसको देखने वाले के मुंह से “अरे बाप रे” निकल ही पड़ता है। इन तस्वीरों में एक बाघ और बाघिन की लव स्टोरी को दिखाया गया है। आप भी ध्यान से देख लो इस भोकाली खबर को।

हंसीImage Source: 

2 – इसके तस्वीर के बारे में हम कुछ नहीं कहेंगे। बुद्धिमान लोग अपने सेंस ऑफ़ ह्यूमर का जबरदस्त प्रयोग कर लें।

हंसीImage Source: 

3 – जमाना सेल्फी लेने के लिए कितने क्रेजी हो सकते है उसका पता आप ये तस्वीर देख कर लगा सकते है। क्या कोई अर्थी को कंधे पर रखें हुए भी सेल्फी लेता है क्या। दूसरी और श्मशान में महाराज जी भी सेल्फी के नशें में पूरे डूबे हुए हैं। अब इसको यदि डिजिटल इंडिया न कहेंगे तो और क्या कहेंगे।

हंसीImage Source: 

4 – इस तस्वीर से जुड़ी एक बड़ी फेमस कहावत भी है। आपने सुनी ही होगी। बस उसी का उत्कृष्ट नमूना पेश कर रहा है अपने देश एक कानून का रखवाला यह जवान।

हंसीImage Source: 

5 – नोट में मूंगफली, मोदी जी क्या यही हैं अच्छे दिन?

विशेष नोट- इस तरह के आलेख से हमारा उद्देश्य केवल आपका मनोरंजन करना हैं। इसमें मौजूद नाम, संस्था और राजनीतिक पार्टियों की छवि को धूमिल करना हमारा उद्देश्य नहीं हैं। साथ ही इसमें बताया गया घटनाक्रम मात्र काल्पनिक हैं। अगर इससे कोई आहत होता हैं तो हमें बेहद खेद हैं।

To Top