_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"wahgazab.com","urls":{"Home":"http://wahgazab.com","Category":"http://wahgazab.com/category/uncategorized/","Archive":"http://wahgazab.com/2017/02/","Post":"http://wahgazab.com/actress-nisha-noor-once-a-famous-star-but-had-a-tragic-death/","Page":"http://wahgazab.com/addd/","Attachment":"http://wahgazab.com/?attachment_id=35217","Nav_menu_item":"http://wahgazab.com/28118/","Wpcf7_contact_form":"http://wahgazab.com/?post_type=wpcf7_contact_form&p=154","Mt_pp":"http://wahgazab.com/?mt_pp=14714"}}_ap_ufee

सिर्फ एक आलू से 40 दिन तक जलेगा आपके घर का बल्ब, जानें कैसे

क्या आप सोच सकते हैं कि सिर्फ एक आलू से आपके घर पर 40 दिन तक बिजली आ सकती है यदि नहीं, तो आज हम आपको अपने इस आलेख में यही बताने जा रहें कि मात्र एक आलू से आपका घर 40 दिन तक कैसे रोशन हो सकता है। इसके ऊपर अब तक की खोज पूरी हो चुकी है और यह बात विज्ञान के क्षेत्र में सिद्ध भी हो चुकी है, इसलिए अब हम आपको बता रहें हैं इस विषय पर की गई खोज के बारे में ताकि आपको पता लग सकें कि एक आलू से आपके घर में किस प्रकार से लगातर 40 दिन तक बिजली आ सकती है।

potato_power1Image Source:

इस विषय की खोज हिब्रू यूनिवर्सिटी के शोधकर्ता राबिनोविच ने की है और वे पिछले काफी दिनों से लोगों को इस बारे में जागरूक भी कर रहें हैं ताकि लोग सही और सस्ते दामों में बिजली का प्रकाश पा सकें। आलू से बिजली बनाना कोई बड़ी बात नहीं है, बस इसके लिए आपको कुछ तार, एलईडी और धातु की प्लेट चाहिए होती हैं। राबिनोविच अपने शोध के आधार पर कहते हैं कि एक आलू से करीब चालीस दिनों के लिए एलईडी बल्ब को जलाया जा सकता है।

potato_power2Image Source:

कैसे बनती है आलू से बिजली –
इसके लिए आपको दो धातु प्लेट लेनी होती है, जिसमें से एक कॉपर की होती है तो दूसरी जिंक की। इस प्रयोग में कॉपर की प्लेट नेगेटिव इलेक्ट्रोड का कार्य करती है तो जिंक की प्लेट पॉजिटिव इलेक्ट्रोड का कार्य करती है। इस प्रयोग में आलू के अंदर के एसिड जब तांबे तथा जिंक के साथ में रासायनिक क्रिया करते है तो इलेक्ट्रॉन एक पदार्थ से होकर दूसरे पदार्थ तक जानें लगते हैं और ऊर्जा पैदा होती है और यही वह ऊर्जा है जिससे आपके घर का बल्ब जलता है। इस प्रकार से मात्र एक आलू से आप 40 दिन तक अपने घर का एलईडी बल्ब जला सकते हैं, यदि आपको जिंक नहीं मिल पाता तो आप मैग्नीशियम और आयरन (लोहे) को भी इस प्रयोग में ले सकते हैं।

potato_power3Image Source:

राबिनोविच ने अपने साथी बोरिस रुबिंस्की और एलेक्स गोल्डबर्ग के साथ आलू पर काफी रिसर्च किया जिसके बाद में उन्होंने बताया कि विकासशील देशों में अधिकतर कैरोसीन तेल का प्रयोग घर में प्रकाश के लिए होता है, आलू की यह बिजली उससे भी 6 गुना सस्ती है। इसके अलावा आलू से बनी बिजली डी-सैल बैटरी की ऊर्जा से लगभग 50 गुना सस्ती है। जानकारी के लिए आपको हम यह भी बता कि पूरी दुनिया के करीब 120 करोड़ लोग वर्तमान में बिजली से वंचित है, पर उनको इस आलू के प्रयोग से बिजली मिल सकती है, लेकिन इसके लिए जरुरत है कि दुनियाभर के नेता इस आलू की बिजली के प्रति जागरूक हों क्योंकि इसके बिना यह संभव नहीं है कि सारी दुनिया में सभी लोगों को सस्ती बिजली उपलब्ध कराई जा सकें, इसलिए भारत के नेताओं को भी इस ओर से अब जागरूक होना ही होगा, ताकि आपने देश का कोई भी घर अब अंधेरे में न रहें।

Most Popular

To Top