45 से ज्यादा उम्र के 61 फीसदी भारतीय चाहते हैं रिटायरमेंट

0
343

भारत में हुए एक सर्वेक्षण से पता चला है कि देश में 45 साल से ज्यादा के 61 फीसदी कामकाजी भारतीय अगले पांच साल में अपनी नौकरी से रिटायरमेंट लेना चाहते हैं। इनमें से अधिकतर लोगों के अनुसार अधिक काम के प्रेशर से उनके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य पर प्रभाव पड़ रहा है।

दरअसल वैश्विक बैंक HSBC ने इस बात का पता लगाने के लिए एक सर्वे करवाया था। इस ताजा संस्करण में किये गए अध्ययन से यह बात सामने आई है। ‘स्वस्थ्य रहते हुए सेवानिवृत्ति नई शुरूआत’ नाम के इस अध्ययन में पाया गया कि भारत के 45 से ऊपर के उम्र के 61 फीसदी लोग अगले आने वाले 5 सालों में रिटायरमेंट लेना चाहते हैं।

इस सर्वे में बताया गया है कि रिटायरमेंट लेने के रास्ते में आने वाली बड़ी दिक्कत वित्तीय है, जबकि 14 फीसदी लोगों का मानना था कि वह ऐसा नहीं कर सकते। वहीं, अधिकतर लोगों का मानना था कि पैसों की दिक्कत की वजह से वह रिटायरमेंट नहीं ले सकते।

सर्वे के मुताबिक इस अध्ययन के रिजल्ट से पता चलता है कि भारतीयों को अपनी नौकरी की शुरूआत से ही सेविंग पर ध्यान देना चाहिए। इसके लिए उन्हें योजना शुरू में ही तैयार करनी चाहिए। रिपोर्ट के मुताबिक 43 फीसदी भारतीय अगले 5 सालों में रिटायरमेंट लेकर अपनी फैमिली के साथ अधिक समय गुज़ारना चाहते हैं। 34 फीसदी लोग यात्रा या अपनी किसी इच्छा को पूरा करने के लिए रिटायरमेंट लेना चाहते हैं, जबकि 20 फीसदी लोग ऐसे हैं जो किसी और क्षेत्र में अपना करियर बनाने चाहते हैं या अपना बिज़नेस करने की इच्छा रखते हैं।

1Image Source: http://suyati.com/

इस सर्वे में पाया गया कि 59 फीसदी लोग काम के दबाव या किसी अन्य वजह से रिटायरमेंट लेना चाहते हैं, जबकि 45 साल से ज्यादा के 27 फीसदी लोग इसलिए रिटायरमेंट चाहते हैं क्योंकि इससे उनका मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य प्रभावित हो रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here