पढ़ें दमदार सनी देओल के 10 वजनदार डायलॉग्स

0
644

सनी देओल को उनकी दमदार एक्टिंग और बेहतरीन डायलॉग्स डिलिवरी के लिए जाना जाता है। 90 के दशक में आई उनकी फिल्मों ने दर्शकों के दिलों में अपनी विशेष जगह बनाई। इसके बाद सनी देओल को इंडस्ट्री का बेस्ट एक्शन हीरो माना जाने लगा। उनकी फिल्मों के कुछ डायलॉग्स तो आज तक लोगों को मुंहजुबानी याद हैं। यहां हम सनी देओल की फिल्मों के कुछ ऐसे ही मशहूर 10 डायलॉग्स आपके साथ साझा कर रहे हैं।

सनी की हिट फिल्मों के कुछ दमदार डायलॉग्स –

1Image Source: http://dooleyonline.typepad.com/

दामिनी – तारीख पर तारीख… तारीख पर तारीख… तारीख पर तारीख… तारीख मिलती रही है, लेकिन इन्साफ नहीं मिला, माई लॉर्ड इन्साफ नहीं मिला, मिली है तो सिर्फ यह तारीख।

ग़दर ‘एक प्रेम कथा’ – हमारा हिन्दुस्तान जिंदाबाद था, जिंदाबाद है और जिंदाबाद रहेगा।

2Image Source: https://i.ytimg.com/

दामिनी – जब ये ढाई किलो का हाथ किसी पे पड़ता है, तो आदमी उठा नहीं, उठ जाता है।

3Image Source: http://storage11.tunefiles.com/

घातक – पिंजरे में आकर शेर भी कुत्ता बन जाता है।

घायल – झक मारती है पुलिस, उतार कर फेंक दो ये वर्दी और पहन लो बलवंत राय का पट्टा अपने गले में। यू….

दामिनी – चिल्लाओ मत नहीं तो ये केस यहीं रफा दफा कर दूंगा, ना तारीख, ना सुनवाई, इन्साफ वो भी ताबड़तोड़।

4Image Source: http://dooleyonline.typepad.com/

ग़दर ‘एक प्रेम कथा’ – मैं अपने बीवी-बच्चों के लिए सिर झुका सकता हूं… तो सबके सिर काट भी सकता हूं।
घातक – मर्द बनने का इतना शौक है… तो कुत्तों का सहारा लेना छोड़ दें।
नरसिम्हा – ईंट और पत्थर जवाब देने के लिए नहीं होते हैं, घर बनाने के लिए होते हैं।

6Image Source: http://static.ibnlive.in.com/

ज़िद्दी – मौत और वक्त का कोई तालमेल नहीं होता।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here