दुनिया की अनोखी शादी- यहां मरने के बाद आती है बारात और होता है…

हमारे देश में सभी जाति, धर्म और समुदाय के लोग रहते है, जो अपनी परंपरा के अनुसार अपने रीति-रिवाज का पालन करते है, पर कुछ लोगों के रिवाज अपने आप में काफी अलग होने के कारण सुर्खियों में छा जाते है। आखिर ऐसा क्यों होता है यह जानने की उत्सुकता सभी में जाग्रत हो जाती है। इसी तरह से हम बात कर रहें हैं इस अजीबो-गरीब शादी के बारे में, जहां पर लोग शादी को लेकर अपनी एक अलग तरह की परंपरा का निर्वाह सदियों से करते आ रहें हैं, यह परंपरा हमारे लिए काफी अनोखी है।

wedding-ceremony1Image Source:

हमारे देश के एक क्षेत्र में शादी के इस अनोखे रिवाज को जानकर आप भी हो जाएंगे हैरान। आपने देखा होगा कि हमारे यहां शादियां हमेशा रीति-रिवाजों के साथ ही होती आई है। जिसमें कई तरह की रस्में निभाई जाती है और शादी की रस्म हमेशा जीवित लोगों के बीच ही सम्पन्न होती है, लेकिन एक जगह ऐसी है जहां पर लोग जिंदा की नहीं, बल्कि मर चुके लोगों की शादी कराते है। जी हां, यह बात सुनने में भले ही अजीब लगे पर बिल्कुल सच है। उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले में इस तरह की अनोखी शादी रचाई जाती हैं।

यहां पर जब इंसान मर जाता है तब पूरे रीति रिवाजों के साथ मरने वाले की बारात आती है और फिर मरे व्यक्ति के साथ शादी की रस्में निभाई जाती है। नटबाजी समाज में चली आ रही यह परंपरा काफी पुरानी है। जहां पर बच्चों के जीवित रहने के दौरान शादी करना गलत माना जाता है, इसलिए उनके मरने के बाद ही सभी परंपराओं का निभाया जाता है। अभी हाल ही में मीरपुर में एक व्यक्ति ने अपनी बेटी की शादी रचाई जिसकी मौत करीब 18 साल पहले हो चुकी थी।

To Top