केजरीवाल के लिए आखिर क्यों बढ़ा जनता का रोष…

0
428

16 दिसंबर 2012 के दर्दनाक हादसे को याद कर आज भी लोग दहल जाते हैं। इन घटना की शिकार हुई एक निर्भया का तो अंत हो गया, पर अंत नहीं हुआ तो दहशतखोरों का। ना जाने कितनी निर्भया रोज इसी तरह की घटनाओं का शिकार होती हैं और ये दहशतखोर खुले आम घूम रहे हैं। निर्भया के साथ सबसे ज्यादा क्रूरता करने वाले नाबालिग आरोपी को 20 दिसंबर को रिहा किया गया है। जिस पर रविवार की देर रात किशोर दोषी की रिहाई पर रोक लगाने के लिए उच्चतम न्यायालय का दरवाजा भी खटखटाया था। नाबालिग की रिहाई से लोगों की नराजगी काफी बढ़ती जा रही है। घटना के नाबालिग की सहायता करने के संबंध में अरविन्द केजरीवाल की बयानबाज़ी के बाद से इस मामले ने और उग्ररूप धारण कर लिया है। लोगों का गुस्सा केजरीवाल के प्रति बढ़ चुका है। इसी मुद्दे को लेकर दिल्ली के एक व्यक्ति ने अपनी गलत मानसिकता का परिचय देते हुए एक ऐसा ट्वीट किया जिसे देखकर लोग दंग रह गए।

kejriwal1Image Source: http://media.newindianexpress.com/

इस व्यक्ति ने एक ऐसा ट्वीट किया जिसके बाद लोगों ने इस पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है।

@garrysingh954 के अकाउंट से एक व्यक्ति ने लोगों से कहा कि अगर कोई भी 17 या 18 साल का युवक अरविन्द केजरीवाल की बेटी का रेप करेगा तो वह उसे 1 लाख रुपए और एक बाइक देगा।

इस ट्वीट के पोस्ट होते ही अंशी सिंह नाम की एक युवती ने इसके खिलाफ मोर्चा संभालते हुए सीधे DCW चीफ स्वाति मल्लिवाल और प्रोमिला गुप्ता को ट्वीट किया। इस बात की गंभीरता को समझाते हुए कहा कि इसके खिलाफ एक्शन लिया जाना चाहिए। तुरंत इसका जवाब देते हुए प्रोमिला गुप्ता ने अंशी से कहा कि वह तुरंत इस व्यक्ति के खिलाफ एक्शन लेंगी। मामले को बढ़ता देख ट्वीट करने वाले व्यक्ति ने अपना ट्वीट डिलीट कर दिया।

kejriwalImage Source: http://ste.india.com/

यह ट्वीट निर्भया रेप केस की तीसरी बरसी के दिन ही किया गया। एक तरफ लोग जहां इस काले दिन को भुलाने की कोशिश में लगे हुए हैं और यह प्रयत्न कर रहे हैं कि देश की बेटियां सुरक्षित रहें, लेकिन इन सब का कोई असर नज़र नहीं आ रहा। जिससे पता चलता है कि निर्भया के आखिरी संदेश के बाद भी ना देश बदला और ना देश का कानून। आज भी पूरी निडरता के साथ छोटी से छोटी निर्भया का शिकार कर उन्हें मौत के घाट उतार रहे हैं। रह जाती है तो बस उन बच्चों की आखिरी चीख। क्या कूसुर है उन बच्चियों का। क्या सिर्फ लड़कियों का जन्म लेना ही उनका सबसे बड़ा दोष है, जहां आज भी सुरक्षित नहीं हैं इस देश की लाडो…

इस देश में ऐसे लोग भी हैं जो गलत बयानबाजी कर अपराधी किस्म के व्यक्तियों को रेप करने के लिए उकसाने से पीछे नहीं हटते। दिल्ली के सीएम की बेटी को लेकर दिए बयान से यह साबित होता है कि कुछ लोगों की मानसिकता कितनी गलत है। ऐसे में तो बस यही सवाल उठता है कि क्या ये देश लड़कियों के लिए सुरक्षित है?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here