_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"wahgazab.com","urls":{"Home":"http://wahgazab.com","Category":"http://wahgazab.com/category/uncategorized/","Archive":"http://wahgazab.com/2018/01/","Post":"http://wahgazab.com/because-of-the-stone-hearted-up-police-2-youngsters-lost-their-lives/","Page":"http://wahgazab.com/aadhaar/","Attachment":"http://wahgazab.com/because-of-the-stone-hearted-up-police-2-youngsters-lost-their-lives/jijvan-pic/","Nav_menu_item":"http://wahgazab.com/37779/","Custom_css":"http://wahgazab.com/flex-mag/","Wpcf7_contact_form":"http://wahgazab.com/?post_type=wpcf7_contact_form&p=38240","Mt_pp":"http://wahgazab.com/?mt_pp=14714"}}_ap_ufee

अनीता नर्रे के जीवन पर बनी फिल्म ने कमाएं 100 करोड़ रूपये, लेकिन वह आज भी रहती है कच्चे घर में

अनीता नर्रे

 

कई फिल्में हमारे देश के वास्तविक लोगों या उनके जीवन पर बनाई जाती है। आज हम आपको एक ऐसी ही महिला से मिलवा रहें हैं जिसके जीवन पर बनी फिल्म ने 100 करोड़ रूपए कमाए हैं। जी हां, आज हम आपको जिस महिला से मिलवा रहें हैं उसको देख कर आपको काफी हैरानी होगी। आप सोचेंगे कि जिस महिला पर बनी फिल्म ने 100 करोड़ रूपए कमाएं हैं, वह तो किसी आलिशान बंगले में रहती ही होगी, लेकिन ऐसा नहीं है। हम आपको बता दें कि यह महिला आज भी एक कच्चे मकान में ही रहती है। इस महिला का नाम “अनीता नर्रे” है और यह महिला भोपाल के बैतूल की निवासी है।

अनीता नर्रेImage Source: 

आपने हाल ही में अक्षय कुमार द्वारा अभिनीत फिल्म “टायलेट-एक प्रेम कथा” देखी ही होगी, पर आप शायद नहीं जानते होंगे कि यह फिल्म इस ही अनीता नर्रे नामक महिला के ही जीवन पर आधारित है, जिसके बारे में आज हम आपको यहां बता रहें हैं। अपने जीवन पर फिल्म बनने के बाद में भी अनीता नर्रे की जिंदगी पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा है। वह आज भी कच्चे मकान में रहती है। इस मकान का फर्श, दीवारें तथा छत मिट्टी तथा कुछ पत्थरों की मदद से ही बने हुए हैं। फिल्म में अनीता नर्रे का जो घर दिखाया गया है, वह वास्तविक अनीता नर्रे के घर से काफी अलग है, असल में वह ग्रामीण वातावरण का सामान्य घर दिखाया गया है।

अनीता नर्रेImage Source: 

अनीता नर्रे बताती है कि फिल्म के रिलीज होने के अगले दिन हम लोग बैतूल के एक सिनेमा हॉल में फिल्म देखने के लिए गए थे। फिल्म अच्छी बनी थी, पर जब हम लोग फिल्म देख कर उठ रहें थे, तब आखिर में सिनेमा की स्क्रीन पर मेरा चित्र उभर आया और मेरे बारे में जानकारी दी गई। सिनेमा की बड़ी स्क्रीन पर अपना चित्र देखकर मेरे रोंगटे खड़े हो गए थे। उन्होंने कहा कि मुझे कभी पता नहीं था कि मेरी कहानी को इतने बड़े पर्दे पर दिखाया जाएगा।

Most Popular

To Top