यह मुस्लिम डॉयरेक्टर हिंदू वेद “सामवेद” का कर रहे है प्रचार

सामवेद

बहुत से मुस्लिम लोग सद्भाव और मानवता के लिए कई प्रकार एक कार्य करते हैं। उन्ही में से एक हैं इकबाल दुर्रानी। वर्तमान में ये एक ऐसे कार्य में लगे हुए हैं। जिस पर आप शायद विश्वास नहीं करेंगे। असल में ये सनातन धर्म के वेद सामवेद का अनुवाद उर्दू तथा अंग्रेजी भाषा में कर रहें हैं। ऐसा ये इसलिए कर रहें हैं ताकि अंग्रेजी तथा उर्दू भाषा को समझने वाले लोग भी इस वेद में दी गई शिक्षाओं को समझ सकें। इकबाल का मानना है कि इस कार्य से लोगों के बीच सद्भाव और मानवता का संदेश जाएगा।

सामवेदImage source:

इकबाल दुर्रानी असल में एक फेमस बॉलीवुड निर्देशक रह चुके हैं। वे “फूल और कांटे” तथा काल चक्र” जैसी फिल्मों का सफल निर्देशन कर चुके हैं। वर्तमान में इकबाल बिहार के बांका जिले के अंतर्गत आने वाले बलुआत्रु गांव में हैं। यहीं इनका मूल निवास है। इकबाल यहां रहते हुए सामवेद का उर्दू तथा अंग्रेजी भाषा में अनुवाद कर रहें हैं। अपने इस कार्य को करने के पीछे के कारण को बताते हुए इकबाल कहते हैं “1960 के दशक में मेरे दादा जी सरकारी स्कूल में संस्कृत भाषा के टीचर थे। उनसे प्रेरित होकर ही मैं इस कार्य में जुटा हूं।”

सामवेदImage source:

इकबाल का कहना है कि सामवेद के अनुवाद का कार्य पूरा हो चुका है तथा इसकी टाइपिंग का कार्य जुलाई से प्रारंभ होगा। इसके अलावा उनका कहना है कि सामवेद के इस अनुवादित ग्रंथ के संपादन तथा प्रकाशक का कार्य मैं स्वयं ही करूँगा। इकबाल दुर्रानी का कहना है कि सामवेद के अनुवाद के बाद इसको उर्दू तथा अंग्रेजी भाषा के पाठक अच्छे से समझ सकेंगे। वे आगे यह बताते हैं कि इस अनुवादित सामवेद ग्रंथ के प्रचार के लिए वे सामाजिक कार्यकर्ताओं, सामाजिक संस्थाओं तथा अन्य लोगों से मदद लेंगे। दुर्रानी का मानना है कि सामवेद के अनुवाद के बाद लोगों को इसका सही सन्देश समझने में बहुत मदद मिलेगी तथा इससे समाज में भाईचारा, प्रेम तथा शांति को बढ़ावा मिलेगा। कुल मिलाकर यह कहा जा सकता है कि इकबाल दुर्रानी जैसे व्यक्ति यदि समरसता बनाने के लिए ऐसे कार्य को कर रहें हैं तो अन्य लोगों को भी ऐसे कार्य प्रारंभ करने चाहिए।

To Top