साल 2015 :जाने मोदी के 9 विदेश दौरे में कौन सा दौरा कितना कारगर साबित हुआ

0
316

15वें प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने शपथ ग्रहण करने के बाद से एक दिन भी रेस्ट नहीं किया, और लगातार को लई दिशा देने में लगे रहे। हमेशा से उनकी सोच रही है कि भारत देश एक मजबूत और ताकत देश बन कर दुनिया के नक्शे पर उभरे, इसी सोच को अमली जामा पहनाने के लिए वो लगातार दुनिया के तमाम देशों के साथ मिल कर चलने की कोशिश करते रहे है। एक ओर देश की आंतरिक व्यवस्था को मज़बूत करना तो दूसरी ओर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर देश की अलग पहचान कायम करने के लिए दुनियां के तमाम मुल्कों से संपर्क स्थापित करने में वो जुटे रहे। और आज यह उसी का नतीजा है कि भारत अब दुनिया के दूसरे देशों के साथ मिल कर विकास के रास्ते पर चल पड़ा है…लेकिन आतंकवाद की चुनौती से जूझ रही दुनियां के साथ कदम से कदम मिला कर उसके खात्मे के लिए लगातार काम कर रहे हैं। हलांकि उनके विदेश दौरे को लेकर विपक्ष हमेशा सवाल करता रहा है, लेकिन मोदी उनकी परवाह किए बिना अपने मकसद को पूरा करने में जुटे हैं.. साल 2015 में अपनी विदेश यात्राओं से सुर्खियों मे रहे मोदी ने एक अनोखा रिकॉर्ड भी बनाया है, लोगों का भी कहना है कि पीएम मोदी विदेश दौरे के कारण हमेशा से सुर्ख़ियों में रहे, लेकिन पीएम मोदी के कुछ दौरे इतिहास के पन्नों पर सुनहरे अक्षरों से लिखे जाएंगे लिहाजा कौन सा दौरा कितना कारगर साबित हुआ। चलिए हम आप को बतातें है पीएम मोदी की खास 9 विदेश यात्राओं के बारे में

1-अमेरिका: दुनिया का सबसे ताकतवर देश अमेरिका जिससे दोस्ती का मतलब होता है कई मोर्चों पर एक साथ फतह हासिल करना। हलांकि दुनिया के कई देश अमेरिका से दोस्ती के लिए उनकी शर्तों पर तैयार हो जाते हैं, लेकिन भारत के कुशल नेतृत्व का नतीजा है कि अमेरिका हर मोर्चे पर भारत के कंधे से कंधा मिला कर चलने को तैयार है। दुनिया के सबसे ताकतवर व्यक्ति अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा भी मोदी की दोस्ती के कायल हैं, और उनके कार्यकुशलता की तारीफ करते हैं नतीजा दुनिया का भरोसा भारत के ऊपर बढ़ा तो दुनिया की टॉप मोस्ट कंपनिया भी भारत में इंवेस्ट करने को बेताब नज़र आईं।

PM Modi visits in americaImage Source: http://s1.reutersmedia.net/

2-रूस: पीएम मोदी का रूस दौरा साल के अंत में एक अलग इबारत लिखने वाला साबित हुआ है, ये नरेंद्र मोदी की कूटनीतिक सूझबूझ का नतीजा है कि उन्होंने दुनिया के दो सुपर पावर यानी दो ध्रुवों को एक साथ लाकर कर देश हित में कई बड़ी परियोजनाओं को अमली जाम पहनाया है। और उसका नतीजा ये है कि आड़े वक्त के साथी और पुराने मित्र रूस से दोस्ती को और मजबूत करने में सफलता हासिल हुई है। नतीजतन न्यूक्लियर ऊर्जा के साथ कई महत्वपूर्ण दो पक्षीय समझौते हुए जो विकास के लिए मील का पत्थर साबित होंगे।

PM Modi visits in rushImage Source: http://img01.ibnlive.in/

3-फ्रांस: एक ओर पेरिस आतंकी हमले से कराह रहा था और उसके दर्द को पूरी दुनिया ने महसूस किया ऐसे में 1 दिसंबर को पीएम मोदी वहां पहुंच कर आतंकवाद के मुद्दे पर दुनिया के तमाम मुल्कों को एक साथ लाने की करिश्माई पहल की इसके अलावा फ्रांस की कंपनियां रक्षा उपकरण अब भारत में ही बनाने को सहमत हुईं हैं, जिससे तकनीकी तौर पर भारत और आत्म निर्भर होने की दिशा में मज़बूती से कदम बढ़ाएगा। पेरिस में जलवायु परिवर्तन पर हुई समिट में भारत की पहल का जो असर हुआ उसके लिए बराक ओबामा ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को विशेष तौर पर बधाई दी।

PM Modi visits in fransImage Source: http://img01.ibnlive.in/

4-मलेशिया: मोदीजी के मलेशिया दौरे पर वहां के प्राइम मिनिस्टर से रणनीतिक भागीदारी को लेकर सहमति बनी इसके अलावा इस यात्रा के दौरान व्यापारिक संबंधों को मजबूत बनाने और भारत में निवेश आकर्षित करने के लिए कई समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए, पीएम मोदी ने भारतीय उत्पादों के निर्यात के लिए भी सकारात्मक पहल की।

PM Modi visits in fransImage Source: http://images.indianexpress.com/

5-ब्रिटेन: पीएम मोदी ने अपने ब्रिटेन के दौरे पर एक दो नहीं पूरे 27 डील पर समझौता किया। प्रधानमंत्री मोदी ने वेम्बले स्टेडियम में ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन और वहां उपस्थित भारतीय समुदाय के लोगों को संबोधित करते हुए कहा था कि, ‘दुनिया को भारत ने अपनी ताकत का लोहा मनवा दिया है। भारत अब दुनिया से मेहरबानी नहीं चाहता बल्कि दुनिया से बराबरी का हक चाहता है।

modi in britainImage Source: http://ste.india.com/

6-UAE: एक ओर दुनिया पर आतंकी साया मंडरा रहा है ऐसे में पीएम मोदी ने अपनी यूएई की यात्रा को अपने हुनर और अपनी कूटनीतिक सूझबूझ के बूते अलग मुकाम तक पहुंचाया, मोदी ने शेख जायद मस्जिद में जाकर इस्लाम के प्रति सम्मान का दुनिया को संदेश दिया। तो उपहार में उन्हें स्लामिक राष्ट्र में मंदिर निर्माण का तोहफा मिला इसके अलावा ऑयल संपन्न देश से कई व्यापारिक समझौते भी हुए जो भारत के लिए बेहद महत्वपूर्ण है।

modi in uaeImage Source: http://i.dawn.com/

7-दक्षिण कोरिया: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दक्षिण कोरिया की यात्रा की जिसे बेहद सफल माना जा सकता है, दक्षिण कोरिया ने भारत को स्मार्ट सिटी के बुनियादी ढांचे के विकास, रेलवे, ऊर्जा उत्पादन और अन्य दूसरे क्षेत्रों के लिए 10 अरब डॉलर मुहैया करने का फैसला किया जो दोनों देशों के संबंधों को एक नया मुकाम देने के लिए द्विपक्षीय मज़बूत रिश्ते के तौर पर देखा गया, जिससे दोनों देशों के रश्ते विशेष रणनीतिक साझेदारी के मुकाम तक पहुंचा।

PM Modi visits South KoreaImage Source: http://images.indianexpress.com/

8-बांग्लादेश: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पड़ोसी मुल्कों से रिश्तों को मज़बूत करने की कड़ी में बांग्लादेश की दो दिवसीय यात्रा गए, नतीजा ये हुआ कि बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने प्रोटोकॉल से अलग हज़रत शाहजलाल अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर खुद पहुंचकर प्रधानमंत्री मोदी का स्वागत किया जो रिश्तों को नए आयाम देने के लिए खास मायने रखते हैं।

PM Modi visits bangladeshImage Source: http://images.indianexpress.com/

9-पाकिस्तान: 25 दिसंबर का दिन दुनिया के इतिहास में खास था पीएम मोदी अचानक पाकिस्तान पहुंच कर पूरी दुनिया को चौका दिए, एक ओर दोनों मुल्कों के संबंधों में कड़वाहट की चर्चा दुनिया की मीडिया में सुर्खियों में थी लेकिन उनकी इस आचानक यात्रा से दुनिया हैरान रह गई, और अब उम्मीद की जा रही है कि दोनों देशों के रिश्तों में सालों से जमी बर्फ पिघलेगी और दोस्ती की नई इबारत लिखी जाएगी। 11 सालों के बाद कोई भारतीय प्रधानमंत्री पाकिस्तान की ज़मीन पर कदम रखने पहुंचा जो एक रिकॉर्ड भी है।

mODI-IN-LAHORE1IMAGE SOURCE: HTTPS://QZPROD.FILES.WORDPRESS.COM

एक भारत के प्रधानमंत्री के रूप में मोदी ने देश के लिए जो भी काम कर रहे है। वो काबिले तारीफ है। जिस पर आपकी राय क्या कहती है मोदी का विदेश दौरा कितना रंग लाएगा हमारे भारत को पहचान दिलाने में।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here