_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"wahgazab.com","urls":{"Home":"http://wahgazab.com","Category":"http://wahgazab.com/category/uncategorized/","Archive":"http://wahgazab.com/2017/01/","Post":"http://wahgazab.com/these-african-tribal-women-never-take-a-bath-still-look-so-damn-beautiful/","Page":"http://wahgazab.com/addd/","Attachment":"http://wahgazab.com/these-african-tribal-women-never-take-a-bath-still-look-so-damn-beautiful/himba-people2/","Nav_menu_item":"http://wahgazab.com/28118/","Wpcf7_contact_form":"http://wahgazab.com/?post_type=wpcf7_contact_form&p=154","Mt_pp":"http://wahgazab.com/?mt_pp=14714"}}_ap_ufee

2016 में प्रधानमंत्री मोदी के विदेश दौरों की घटेगी संख्या

modi

साल 2015 अब बीत गया है और नए साल का आगाज हो चुका है। अगर हम बीते साल की तरफ नजरें घुमाएं तो देश में ज्यादातर जिन बातों और घटनाओं ने सबसे अधिक सुर्खि‍यां बटोरीं उनमें सबसे ज्यादा प्रमुख देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विदेश यात्राएं रही हैं। 2016 की शुरूआत हो गई है और इसके साथ ही इस बात की भी चर्चा शुरू हो गई है कि क्या पीएम इस साल भी अपने विदेश दौरों पर ज्यादा जोर देंगे। हालांकि सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक पीएम के नए साल के एजेंडे में विदेश दौरों की फेहरिश्त तो है, लेकिन पिछले साल की अपेक्षा कम। इस साल वह अपने देश में ज्यादा से ज्यादा समय देने वाले हैं।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीते साल 26 देशों का दौरा किया था। वहीं, पिछले साल के मुकाबले इस बार पीएम कम देशों की यात्रा करने वाले हैं। हालांकि, ये सभी दौरे देश में निवेश और सुरक्षा के लिहाज से काफी अहम और महत्वपूर्ण साबित होने वाले हैं। साल 2016 में पीएम मोदी का पाकिस्तान, जापान, अमेरिका और चीन जैसे देशों का दौरा प्रस्तावित है।

Indian Prime MinisterImage Source: https://timedotcom.files.wordpress.com

पीएम मोदी शुरूआत से ही अपने विदेश दौरों को लेकर काफी लोकप्रिय बने हुए हैं। जानकार मानते हैं कि प्रधानमंत्री की विदेशी यात्रा में अलग तरह की कूटनीति नजर आती है। जिस तरह उन्होंने पिछले दिनों लाहौर की औचक यात्रा की उसमें एक अपनापन दिखाई देता है, जो पहले किसी अन्य प्रधानमंत्री के दौरों पर नहीं दिखा। शायद यही कारण है कि वैश्विक स्तर पर मोदी की लोकप्रियता का ग्राफ लगातार बढ़ता ही जा रहा है।

बताया जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने विदेश दौरों की शुरूआत इस साल मार्च के अंत में अमेरिका से करने वाले हैं। वह मार्च में वॉशिंगटन में होने वाले परमाणु सुरक्षा सम्मेलन में हिस्सा लेंगे। हालांकि, यह कार्यक्रम अभी प्रस्तावित है। इस सम्मेलन में भारत की तरफ से परमाणु परिसंपत्तियों की सुरक्षा के प्रस्ताव पेश करने की उम्मीद है। इसके अलावा भारत एनएसजी और एमटीसीआर की तरह निर्यात नियंत्रण व्यवस्थाओं की सदस्यता की वकालत भी कर सकता है। इस दौरान पीएम मोदी की पाकिस्तान के वजीर-ए-आजम नवाज शरीफ से भी मुलाकात हो सकती है।

2016 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक बार फिर चीन की यात्रा पर जाएंगे। वह वहां जी-20 सम्मेलन में शिरकत करेंगे। यह सम्मेलन चीन में नवंबर महीने में आयोजित किया जा रहा है। वहीं, प्रधानमंत्री के विदेश दौरों की फेहरिश्त में इस बार वेनेजुएला का भी नाम है। वह जुलाई में लैटिन अमेरिकी के इस तेल समृद्ध देश के दौरे पर जा सकते हैं। पीएम मोदी पहली बार वहां नेम (NAM) सम्मेलन में भाग लेंगे। इस दौरान पीएम लैटिन अमेरिका के कई अन्य देशों का दौरा भी कर सकते हैं।

modi visitsImage Source: http://media4.s-nbcnews.com/

इसके साथ ही नवंबर 2016 में प्रधानमंत्री इंडिया-एशियन और ईस्ट एशिया समिट में हिस्सा लेने लाओस जा सकते हैं। अपने इस दौरे के दौरान पीएम मोदी राजधानी दिल्ली के लिहाज से कुछ अन्य महत्वपूर्ण रणनीति-कार साझेदारों के साथ मुलाकात कर सकते हैं। इसके अलावा भारत-जापान वार्षिक शिखर सम्मेलन वैकल्पिक रूप से इस बार दिल्ली और टोक्यो में आयोजित किया जाना है। दोनों देश इस समिट में रक्षा, परमाणु ऊर्जा, समुद्री सुरक्षा और निवेश के क्षेत्रों में सामरिक भागीदारी के विस्तार पर चर्चा करेंगे।

हालांकि, साल 2016 में मोदी की सबसे चर्चित  विदेश यात्रा इस बार भी पाकिस्तान की रहने वाली है। प्रधानमंत्री पड़ोसी मुल्क में सार्क सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए पहुंचेंगे। यह सम्मेलन सितंबर-नवंबर में आयोजित होगा। अपने इस दौरे पर पीएम अन्य एशियाई नेताओं के साथ भी मुलाकात करेंगे। फिलहाल प्रधानमंत्री के शिड्यूल में अभी फरवरी में सिर्फ रियाद का दौरा ही है।

Most Popular

To Top