आज ही के दिन भारत की राजधानी को मिला नया नाम ‘नई दिल्ली’

0
416

भारत की राजधानी को कोलकाता से दिल्ली स्थानांतरित करने में किंग जार्ज पंचम का सबसे बड़ा हाथ माना जाता है। बताया जाता है कि ‘भारत के सम्राट और महाराज’ के रूप में अपनी ताजपोशी ग्रहण करने के 15 साल बाद किंग जार्ज पंचम ने शहर का नामकरण ‘नई दिल्ली’ किया। तब तक नए बसाए जा रहे इस शहर का कोई नाम ना होने के कारण राजधानी को ‘नई राजधानी’ या ‘नई शाही राजधानी’ या ‘शाही शहर’ कहकर पुकारा जा रहा था। भारतीय राष्ट्रीय अभिलेखागार के उस काल के दस्तावेजों के अनुसार 31 दिसंबर 1926 को सम्राट जार्ज पंचम ने आधिकारिक रूप से ‘नई दिल्ली’ नाम की घोषणा की।

red-fortImage Source: http://1.bp.blogspot.com/

31 दिसंबर 1926 की तारीख इतिहास का एक महत्वपूर्ण पन्ना है जिस दिन ‘नई दिल्ली’ शहर का नामकरण हुआ था जिसे आज हम देश की राजधानी के नाम से जानते हैं। इसी तरह से आज ही के दिन ईस्ट इंडिया कंपनी की स्थापना 31 दिसंबर 1600 के दिन हुई थी। इसी दिन इंग्लैंड की महारानी एलिजाबेथ प्रथम ने एक चार्टर जारी कर अंग्रेज व्यापारियों को पूर्वी देशों के साथ व्यापार का पट्टा दिया।

1492 – इटली के सिसली क्षेत्र से 100,000 यहूदियों को निकाला गया।

1600 – ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी की स्थापनी हुई।

1756 – रूस वरसेल्स गठबंधन में शामिल हुआ।

1781 – अमेरिका में पहला बैंक ‘बैंक ऑफ नॉर्थ अमेरिका’ खुला।

1802 – मराठा पेशवा बाजीराव द्वितीय अंग्रेजों के संरक्षण में आये।

1902 – दक्षिण अफ्रीका के बोअरों तथा ब्रिटेन की सेना ने शांति समझौते पर हस्ताक्षर किये।

1929 – कांग्रेस के लाहौर अधिवेशन में पूर्ण स्वराज की घोषणा की ।

1944 – अमेरिकी राज्य उताह के ओगडन में रेल दुर्घटना में 48 लोगों की मौत।

1944 – द्वितीय विश्व युद्ध में हंगरी ने जर्मनी के खिलाफ युद्ध की घोषणा की।

1949 – विश्व के 18 देशों ने इंडोनेशिया को मान्यता दी।

1962 – नीदरलैंड ने दक्षिण पश्चिम प्रशांत महासागर में स्थित द्वीप न्यू गिनी को छोड़ा।

1964 – इंडोनेशिया को संयुक्त राष्ट्र से निष्कासित किया गया।

1983 – ब्रुनेई को ब्रिटेन से आजादी मिली।

1984 – राजीव गांधी दूसरी बार प्रधानमंत्री बने।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here