दिल्ली की 10 ऐसी भूतिया जगहें जहां नहीं जा सकता हर कोई

डर तो सबको लगता है। किसी को कम तो किसी को ज्यादा। डरावनी फिल्में देखने की बात हो या डरावनी जगह जाने की इसके लिए आसानी से कोई हिम्मत नहीं जुटा पाता। दिल्ली में भी कुछ ऐसी जगहें हैं जहां ज्यादातर लोग जाने से कतराते हैं।

1- खूनी दरवाजा
खूनी दरवाजा यह नाम ही अपने आप में डरावना है। हालांकि खूनी दरवाजा एक ऐतिहासिक स्थल है पर इसको खूनी दरवाजा इसलिए कहा जाता है क्योंकि यहां पर आखिरी मुग़ल बादशाह बहादुर शाह जफ़र के तीन लड़कों को अंग्रेजों द्वारा गोली से मार दिया गया था। आज भी ऐसी मान्यता है कि यहां पर उन तीनों लड़कों की आत्माएं भटक रही हैं और अपने अपमान का बदला लेने को उतारू हैं।

Khooni DarwazaImage Source: https://upload.wikimedia.org

2- संजय वन, किशनगढ़ और महरौली के नजदीक
साउथ दिल्ली हालांकि दिल्ली के पॉश इलाकों में गिना जाता है और आधुनिक जीवन शैली के लोग भूत प्रेत जैसी बातों पर यकीन नहीं करते पर साउथ दिल्ली के बीच लगभग 10 किलोमीटर का यह जंगल इस बात को झूठा साबित कर देता है। असल में यह वन भूतिया कहलाता है। यहां पर कई प्रकार की दरगाह और छोटे-मोटे कब्रिस्तान हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि यहां कभी-कभी छोटे बच्चों या औरतों के रोने की आवाजें सुनी जा सकती हैं।

Sanjay VanImage Source: http://www.dda.org.in/

3- फिरोज शाह कोटला, विक्रमनगर
शहंशाह फ़िरोज़ शाह का नाम तो आपने इतिहास के पन्नों में पढ़ा ही होगा। उन्होंने इस किले का निर्माण सन् 1354 में कराया था। इसलिए इस किले को उनके ही नाम से जाना जाता है। इस किले के बारे में मान्यता है कि यहां के प्रत्येक हिस्से पर जिन्नों का कब्ज़ा है। इसलिए यहां पर कोई रुकता या अधिक देर तक अकेला नहीं घूमता है। बहुत से लोग यहां आपको शुक्रवार या बृहस्पतिवार को अगरबत्ती अथवा मोमबत्ती जलाते मिल जाएंगे। इन लोगों की मान्यता है कि इससे यहां के जिन्न खुश हो जाते हैं और हमारी परेशानियों को कम देते हैं। यहां के कुछ स्थानीय लोगों को आप जिन्नों को दूध और अनाज भेंटकर उन्हें खुश कर मन्नत और दुआएं मांगते देख सकते हैं।

Feroz Shah KotlaImage Source: https://anubhavsood.files.wordpress.com

4- दिल्ली कैंट
आर्मी दिल्ली का सबसे सुरक्षित इलाका माना जाता है। यहां आर्मी की मौजूदगी रहती है। लेकिन एक सत्य यह भी है कि यह इलाका दिल्ली की भूतिया जगहों में से एक है। बहुत से लोगों का कहना है कि सफेद कपड़े पहने एक सुंदर महिला यहां से गुजरने वाले वाहनों से लिफ्ट मांगती है या फिर उनके साथ-साथ दौड़ती है। यह काफी डरावना लगता है। हालांकि इस प्रकार की यह एक घटना नहीं है। इससे पहले भी कई लोगों ने यहां रात को गुजरते समय एक डरावनी महिला को घूमते हुए देखा है। देखा जाए तो काफी संख्या में आर्मी के जवान यहां रहते हैं और इसे एक सुरक्षित इलाके के तौर पर प्रदर्शित किया जाता है, पर यहां होने वाली घटनाओं से ऐसा लगता नहीं है।

Delhi_GateImage Source: ttps://upload.wikimedia.org

5- खूनी नदी, रोहिणी
यह नदी रोहिणी के इलाके में बहती है। नदी मानव जीवन के लिए बहुत से उपयोगी काम करती है पर इस नदी की कहानी ही अलग है। असल में इस नदी के बारे में मान्यता है कि यह नदी लोगों का खून चूस लेती है। यही कारण है कि बहुत से लोग इस नदी के संपर्क में आने से आज भी बचते हैं। अगर आकड़ों की मानें तो इस नदी में अब तक आधे दर्जन लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि यह सब केस आत्महत्या के माने जा रहे हैं पर अब तक किसी भी केस की पुष्टि नहीं हुई है।

khooni nadiImage Source: http://www.universityexpress.co.in/

6- जमाली कमाली किला, महरौली
यह पुराना किला महरौली के आर्केलॉजिकल कॉम्पलेक्स में स्थित है। इसका नाम एक सूफी संत शेख जमाली जो कि एक धार्मिक व्यक्ति थे और उनके शागिर्द कमाली के नाम पर है। इस इलाके में लोगों ने धकियाने और मुकियाने की शिकायतें की हैं। लोगों का कहना है कि इस इलाके में घूमते हुए उनको कोई भी धक्का दे देता है या किसी भी जगह मुक्का मार देता है और मारने वाले का दूर-दूर तक पता नहीं चल पाता। साथ ही वे बताते हैं कि यहां से औरतें के रोने और चीखने-चिल्लाने की आवाजें भी आती हैं।

Jamali Kamali Mosque and TombImage Source: http://vargiskhan.com/

7- उग्रसेन की बावली, कनॉट प्लेस
दिल्ली के दिल कहे जाने वाले कनॉट प्लेस में भी ऐसी जगह हो सकती है ऐसा मानना थोड़ा मुश्किल लगता है, मगर यह सच है। आजादी से पहले की बनी इस बावली के बारे में कहा जाता है कि पहले इसमें काला पानी भरा रहता था जिसमें लोग कूद कर आत्महत्या किया करते थे। इन सबके बावजूद पीके फिल्म ने पिछले दिनों इस बावली की काफी पब्लिसिटी की है।

agrasen ki baoliImage Source: https://upload.wikimedia.org

8- हाउस नम्बर W-3, ग्रेटर कैलाश-1
असल में इस घर में एक बुजुर्ग दम्पति की हत्या कर दी गई थी। इसके बाद उनके मृत शरीर को वहीं की टंकी से महीने बाद बरामद किया गया था। इस घर के आस-पास रह रहे लोगों का कहना है कि वहां से किसी के रोने और चीखने-चिल्लाने की आवाजें कई बार सुनी हैं। इस मकान में अब कोई नहीं रहता और इसे भुतहा घोषित कर दिया है।

house no w-3 greater kailashImage Source: http://blog.mapsofindia.com/

9- मलछा महल, बिस्तदारी रोड
दिल्ली के मलछा गांव में ये महलनुमा पुराना खंडहर है। ये स्थान चारों तरफ जंगलों से घिरा हुआ है। यहां के स्थानीय लोग भी इसके बारे में कुछ खास नहीं जानते। वे कहते हैं कि सिर्फ यहां मौजूद होने भर से ही डर लगता है।

Malcha MahalImage Source: http://www.trip2in.com/

10- निकोल्सन कब्रगाह, सिविल लाइंस
निकोल्सन कब्रगाह दिल्ली के सबसे पुराने कब्रगाहों में से एक है। इसे ब्रिटिश राज में स्थापित किया गया था। इस कब्रगाह में ब्रिटिश सैनिकों, उनके पत्नियों और बच्चों की कब्रें हैं। यहां जाने वाला कोई भी इंसान यहां दैवीय धमक महसूस कर सकता है। साथ ही यहां का सन्नाटा तो बस जानलेवा ही होता है।

nicholsonImage Source: http://traveljee.com/

हालांकि आत्माओं का अस्तित्व कई धर्मों में स्वीकार किया गया है और इस पर काफी रिसर्च भी पुराने टाइम से हो रहे हैं, पर हम तो यही कहेंगे कि हिम्मती बन्दे के सामने कोई डर अधिक समय तक नहीं टिक सकता है। सुना तो होगा ही कि डर के आगे जीत है।

To Top