_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"wahgazab.com","urls":{"Home":"http://wahgazab.com","Category":"http://wahgazab.com/category/uncategorized/","Archive":"http://wahgazab.com/2018/05/","Post":"http://wahgazab.com/know-why-queen-elizabeth-always-wear-skirt/","Page":"http://wahgazab.com/aadhaar/","Attachment":"http://wahgazab.com/know-why-queen-elizabeth-always-wear-skirt/elizabeth-1/","Nav_menu_item":"http://wahgazab.com/37779/","Custom_css":"http://wahgazab.com/flex-mag/","Oembed_cache":"http://wahgazab.com/3a902aaf57ef68cf66153b03deae219a/","Wpcf7_contact_form":"http://wahgazab.com/?post_type=wpcf7_contact_form&p=38240","Mt_pp":"http://wahgazab.com/?mt_pp=14714"}}_ap_ufee

तस्वीरों में देखिए, समुंद्र के नीचे स्थित इस प्राचीन हिंदू मंदिर को

मंदिर

वैसे तो हिंदू धर्म के कुछ न कुछ चिन्ह हर देश में मिल ही जाते हैं। जिससे हिंदू धर्म की विशालता तथा प्राचीनता का पता लगता है। हिंदू धर्म सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि दुनिया भर में दूर दूर तक फैला हुआ था। आज भी इसके सबूत मिलते रहते हैं। अन्य देशों में स्थित हिंदू मंदिर आज भी अपनी खूबसूरती से लोगों का मन मोह लेते हैं। आज जिस मंदिर के बारे में हम आपको यहां बता रहें हैं। वह भी कुछ ऐसा ही है पर यह मंदिर जमीन पर नहीं बल्कि पानी के अंदर बना हुआ है। आइये अब आपको विस्तार से बताते हैं इसके बारे में।

मंदिरImage source:

आपको बता दें कि यह मंदिर इंडोनेशिया के समुद्री तल पर स्थित है। इसमे भगवान विष्णु तथा भगवान शिव की प्रतिमाएं स्थित है। इस मंदिर की ये प्रतिमाएं करीब 5 हजार वर्ष प्राचीन बताई जाती हैं। समुद्र में जो भी लोग डाइविंग या स्विमिंग करते हैं। वे इसे देखने के लिए अवश्य आते हैं। यह मंदिर वर्तमान में एक खंडर के जैसा है। इसे लेकर लोगों की अलग अलग धारणाएं हैं। कुछ लोगों का कहना है कि यह भगवान कृष्ण की द्वारिका नगरी भी हो सकती है। यहां भगवान शिव तथा विष्णु के अलावा भगवान बुद्ध की भी कुछ प्रतिमाएं हैं। यदि आप भी इस रोमांचक तथा प्राचीन नगर की सैर करना चाहते हो तो अभी से स्विमिंग सिखना शुरू कर दीजिये।

To Top