_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"wahgazab.com","urls":{"Home":"http://wahgazab.com","Category":"http://wahgazab.com/category/uncategorized/","Archive":"http://wahgazab.com/2017/12/","Post":"http://wahgazab.com/know-about-the-amazing-cow-which-requires-4-men-to-collect-milk/","Page":"http://wahgazab.com/aadhaar/","Attachment":"http://wahgazab.com/know-about-the-amazing-cow-which-requires-4-men-to-collect-milk/know-about-the-amazing-cow-which-requires-4-men-to-collect-milk-1/","Nav_menu_item":"http://wahgazab.com/37779/","Custom_css":"http://wahgazab.com/flex-mag/","Wpcf7_contact_form":"http://wahgazab.com/?post_type=wpcf7_contact_form&p=38240","Mt_pp":"http://wahgazab.com/?mt_pp=14714"}}_ap_ufee

जूते उधार लेकर खेले थे रणजी, IPL में मिले 3.20 करोड़

आज IPL की बात करें तो राजस्थान के तेज गेंदबाज “नाथू सिंह” काफी चर्चा में हैं। नाथू सिंह को मुंबई इंडियंस ने 3.20 करोड़ रुपये में खरीद लिया था, लेकिन बहुत से लोग आज के समय में नाथू सिंह को करीब से नहीं जानते हैं। आज हम आपको बताएंगे कि असल में नाथू सिंह क्या थे और अब वह क्या हैं।

गरीब परिवार से हैं नाथू सिंह –

नाथू सिंह मूलतः राजस्थान के टोंक जिले से हैं। नाथू सिंह से पिता भारत सिंह पहले खेती करते थे। आर्थिक परेशानियों से घिरे भरत सिंह अपने परिवार का पालन-पोषण नहीं कर पाते थे, इसलिए उन्होंने खेती छोड़कर एक वायर फैक्ट्री में नौकरी कर ली। नाथू का कहना है कि जब उनके पिता फैक्ट्री चले जाते थे तब मैं खेलने जाता था। उस समय बड़े भाई ने मुझे बड़े स्तर पर खेलने को कहा और मैंने सुराणा एकेडमी में एडमिशन लेने की सोची। इस एकेडमी में एडमिशन के लिए 10 हजार रुपए की जरूरत थी, पर पापा के पास इतने पैसे नहीं थे तो उन्होंने सिर्फ 2 महीने के लिए ही एडमिशन कराया। बाद में एकेडमी के कोच और मामा के प्रयास से मेरी फीस कुछ कम हो गई और मेरी काबिलियत को देखते हुए कोच ने मुझे कुछ और समय दिया। साल के अंत तक इस प्रकार मैंने राजस्थान की अंडर-19 टीम में अपनी जगह बना ली थी।

coverImage Source: http://www.patrika.com/

नाथू के बारे में राहुल द्रविड़ ने राजस्थान क्रिकेट के कन्वेनर अमृत माथुर को फ़ोन कर के कहा था कि यह अच्छा लड़का है, इस पर ध्यान रखना। दिल्ली के खिलाफ अच्छे प्रदर्शन के बाद दिल्ली के कोच ने माथुर को बताया कि गौतम गंभीर ने भी इस लड़के को अच्छा बताया है। उन्होंने कहा था कि कई सालों बाद उनको भारत की ओर से खेलने वाला खिलाड़ी दिखा है। आपको बता दें कि रणजी में खेलने के लिए नाथू सिंह ने अपने सीनियर से जूते उधार लिए थे क्योंकि उनके पास उस समय जूते खरीदने के लिए पैसे नहीं थे।

Most Popular

To Top