ऐतिहासिक तथ्य – शिवलिंग का अरब की सबसे पुरानी मस्जिद में होने का सत्य

0
1434

वर्तमान समय में सोशल मीडिया में काफी हलचल मची हुई है काफी लोग एक ऐसी फोटो को शेयर कर रहें हैं जिसमें अरब की सबसे पुरानी मस्जिद की दीवार पर एक शिवलिंग और नंदी की आकृति बनी हुई दिखाई है, इस फोटो को व्हाट्स अप और फेसबुक सहित कई अन्य सोशल मीडिया के माध्यमो से शेयर किया जा रहा है।

old-masjid-arab-shivling1Image Source:

देखा जाए तो 1400 साल पहले के अरब के इतिहास में मूर्ति पूजा का वर्णन मिलता है जिसको आज काफी इस्लामिक विद्वान मानते भी है इसी बीच आई इस फोटो ने मूर्ति पूजक लोगों में काफी इंट्रेस्ट जगा दिया है, जिसके कारण इस फोटो को काफी शेयर किया जा रहा है। जानकारी के लिए आपको बता दें कि ये फोटो “पुनीत शर्मा” नामक एक व्यक्ति ने सोशल मीडिया पर शेयर की है और उसने दावा किया है कि यह फोटो सऊदी अरब की सबसे पुरानी मस्जिद की है और इस मस्जिद का नाम पुनीत ने “रासा मस्जिद” बताया है।

old-masjid-arab-shivling2Image Source:

बीती 2 तारीख को पुनीत नामक इस व्यक्ति ने इस फोटो को शेयर किया था, उस समय से ही यह फोटो सोशल मीडिया पर काफी चलन में आ गई है, पुनीत ने इस फोटो के कैप्शन में लिखा है कि “रासा भी अरब की सबसे पुरानी मस्जिद है। जूम करिए और देखिए, आप शिवलिंग और नंदी जी को देख सकते हैं। हर हर महादेव”, इस फोटो में आप शिवलिंग और नंदी को बहुत ही साफ-साफ देख सकते हैं यही कारण है कि इस फोटो को काफी शेयर किया जा रहा है। अब बात करते हैं इस तस्वीर की असल सच्चाई की, दरअसल जैसा कहा जा रहा है कि तस्वीर पुनीत शर्मा ने शेयर की है तो यह बात ही गलत है, पुनीत शर्मा ने ऐसी किसी भी तस्वीर को शेयर नहीं किया है।

old-masjid-arab-shivling3Image Source:

इसके अलावा इस तस्वीर का अरब के साथ में कोई संबंध भी है और जहां तक बात अरब की सबसे पुरानी मस्जिद के होने का है तो आपको बता दें कि अरब में सिर्फ दो मस्जिदों को ही सबसे पुरानी मस्जिद माना जाता है एक मस्जिद-ए-क़ुबा तथा दूसरी मस्जिद-ए-हरम, तो भाइयो गलत खबर के चक्कर में न पड़े और सही जानकारी के लिए सदैव हमारे इस पोर्टल को पढ़ते रहें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here