अनोखे तरीकों से सांसद कर रहे प्रदूषण के प्रति जागरूक

दिल्ली की आबो हवा में बढ़ते प्रदूषण को लेकर अब ज्यादातर लोग काफी जागरूक नज़र आ रहे हैं। कुछ दिनों पहले ही दिल्ली सरकार ने ऑड और इवन नंबर की गाड़ियों को सड़क पर चलाने के लिए अहम सुझाव दिए हैं। वहीं, संसद के शीतकालीन सत्र में भी इस मुद्दे को प्रमुखता से उठाने के लिए सांसद अपने-अपने ढंग से प्रयास कर रहे हैं।

दिल्ली के प्रदूषण और जहरीली हवाओं को लेकर सांसद नेताओं को भी लगने लगा है कि यह विषय गंभीर बनता जा रहा है। सरकार को सजग कर अहम फैसला लेने के लिए सांसद अपनी भूमिका निभा रहे हैं। मंगलवार को संसद के सत्र में हिस्सा लेने आए राज्यसभा के सांसद और वरिष्ठ वकील केटीएस तुलसी चालीस हजार की साइकिल से संसद पहुंचे। सासंद की यह साइकिल दिनभर मीडिया और अन्य सांसदों की चर्चा का कारण बनी रही। सांसद का मानना है कि सरकार को जल्द ही साइकिल ट्रैक बनाना चाहिए। साथ ही इस समस्या के प्रति सभी के जागरूक होना पड़ेगा, नहीं तो प्रदूषण का दुष्प्रभाव हमारे बच्चों को झेलना पड़ेगा। सोमवार को ससंद के सत्र में कांग्रेस सांसद गौरव गोगोई भी मास्क लगाकर पहुंचे थे।

वहीं, इन सब के अतिरिक्त बीती रात केंद्रीय सड़क और परिवहन मंत्री नितिन गडकरी को भी दो घंटे तक जाम में फंसना पड़ा। एयरपोर्ट आते समय महिपालपुर फ्लाइओवर पर लगे जाम में गडकरी को दो घंटे तक परेशान होना पड़ा। इस जाम में परेशान होने के बाद गडकरी ने राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचआई) के अधिकारियों को तलब किया। गडकरी के मुताबिक जाम की समस्या का समाधान केंद्र और दिल्ली सरकार के साथ मिलकर किया जाएगा और आने वाले समय में दिल्ली को जाम से मुक्त कर दिया जाएगा।

To Top