दुनिया से रुखसत हुए मौलवी मोहम्मद बेलो अबूबकर, 203 बच्चों के थे बाप

मोहम्मद बेलो अबूबकर

 

 

 

जहां आज सभी देश बढ़ती जनसंख्या से परेशान हैं और सरकार द्वारा लोगों को दो बच्चे पैदा करने के प्रति जागरुक कर रहें है, वहीं इस व्यक्ति के 203 बच्चे थे। हालही में इस व्यक्ति की मौत हुई है। 203 बच्चों सहित इस व्यक्ति की 130 पत्नियां भी थी। इसी कारण इसकी दुनिया में एक अलग ही छवि थी। आपको बता देंa कि इस व्यक्ति का नाम “मोहम्मद बेलो अबूबकर” था जो नाइजीरिया का निवासी था। बीती 28 जनवरी 2018 को 93 वर्ष की उम्र में इनका निधन हुआ है। अभी इनके बच्चों की संख्या और भी बढ़ सकती है क्योंकि वर्तमान में भी इनकी कई पत्नियां गर्भवती हैं।

लगातार शादी करने को मानते थे पवित्र मिशन

लगातार शादी करने को मानते थे पवित्र मिशनImage source:

मोहम्मद बेलो अबूबकर लगातार शादिया करते रहने को पवित्र मिशन का नाम देते थे। उनका कहना था कि यह उनके लिए एक पवित्र मिशन है और वे इसी के लिए दुनिया में भेजे गए है। बेलो अबूबकर पेशे से एक मौलवी थे और वे कुरान की विवादित व्याख्या से चर्चा में रहते थे।  वह कहते थे कि कुरआन में कहा गया है कि कोई भी आदमी कितनी भी शादिया कर सकता है। बेलो अबूबकर का मानना था कि एक पुरुष बिना किसी परेशानी के जितनी महिलाओं को संभाल सकता है उसको उतनी शादिया करने का हक है। 2008 में बेलो अबूबकर को कई मुस्लिम धर्म गुरुओं की आलोचना का शिकार भी होना पड़ा था। उनके निधन के बाद बड़ी संख्या में लोग उनके जनाजे में शामिल होने के लिए पहुचें थे।

मुस्लिम धर्म गुरुओं ने की थी तलाक देने की मांग

मुस्लिम धर्म गुरुओं ने की थी तलाक देने की मांगImage source:

मोहम्मद बेलो अबूबकर की जब 86 पत्नियां थी उस समय मुस्लिम धर्म गुरुओं ने उनसे 86 में से 84 पत्नियों को तलाक देने की मांग की थी। इसके जवाब में बेलो ने कहा था कि उनको लगातार शादियां करने के लिए ही भेजा गया है। इसके बाद में उन्होंने लगातार और भी शादियां की तथा कुल 130 महिलाओं को अपनी पत्नियां बनाया। इन सभी महिलाओं से वे 203 बच्चों के पिता बनें हालांकि अभी भी उनकी कुछ पत्नियां गर्भवती हैं।

To Top