जानिए हमारे देश की इस पहली बुलेट ट्रेन की विशेषताएं

बुलेट ट्रेन

बुलेट ट्रेन के बारे में तो आपने बहुत सी खबरें पढ़ी ही होंगी, लेकिन क्या आप वास्तव में बुलेट ट्रेन की खूबियों के बारे में जानते हैं। हाल ही में देश की पहली बुलेट ट्रेन तैयार हो गई हैं। इस ट्रेन में किसी आम ट्रेन की तुलना में कई अधिक विशेषताएं हैं जिनके बारे में आप शायद जानते भी नही है। इसलिए आज हम आपको इस ट्रेन उन्हीं विशेषताओं से परिचित करवाने जा रहें है। आपको सबसे पहले बता दें कि देश की इस पहली बुलेट ट्रेन का नाम “तेजस” है और जल्दी की पीएम मोदी मुंबई-गोवा रेल मार्ग पर इसको जनता को समर्पित करेंगे। अब तक इस ट्रेन के कई ट्रायल रन हो चुके हैं और अब फाइनल रन होना बाकी है।

ये हैं विशेषताएं –

ये हैं विशेषताएंImage source:

इस बुलेट ट्रेन में कुल 19 कोच हैं इनमें 16 एग्जीक्यूटिव क्लास चेयर कार, पावर कार तथा चेयर कार शामिल हैं। यदि ट्रेन में कोई खराबी आती है या आपातकाल की स्थिति बनती है तब उस स्थिति से निपटने के लिए इस बुलेट ट्रेन में 3 एक्सट्रा कोच भी लगाए गए हैं।

ये हैं विशेषताएंImage source:

इस ट्रेन में विमान की ही तरह ई-लेदर सीट, लेग और आर्म्स रेस्ट तथा कुशन की सुविधा मौजूद हैं जो आपके सफर को आरामदायक बनाने में अपनी बड़ी भूमिका निभाएंगे। इसमें कॉल बेल की सुविधा भी है जिसको बजाते ही ट्रेन होस्टेस आपकी सेवा के लिए आपकी सीट पर पहुंच जाएंगी। इस ट्रेन में आपके मनोरंजन की सुविधा के लिए एलईडी भी लगाईं गई है तथा इसके साथ ही आपके गैजेट्स के लिए इसमें USB पोर्ट भी लगाए गए हैं।

सिक्योरिटी की पूरी सुविधा –

सिक्योरिटी की पूरी सुविधाImage source:

बुलेट ट्रेन तेजस में आपकी सिक्योरिटी का भी पूरा ध्यान रखा गया है। इस ट्रेन में आटोमेटिक डोर लगाए हुए हैं। इसके साथ ही इसमे आपको टचलेस वाटर और सोप डिस्पेंसर जैसी आधुनिक सुविधा भी प्राप्त होंगी। इस ट्रेन में हाईटेक सेंसर हैं जो धुएं की मात्रा के अनुसार धीमी या तेज आवाज करते हैं। यदि इस ट्रेन में मामूली धुंआ भी होता है तो इसकी सूचना तुरंत ट्रेन के गार्ड को पहुंच जाती है और वह आग को बुझाने के लिए तुरंत आ जाता है। इसके अलावा यदि इस ट्रेन में आग लगती है तो उस स्थिति में ट्रेन खुद ही रुक जायेगी। इस प्रकार से देखा जाए तो सुरक्षा का भी इस ट्रेन में पूरा ध्यान रखा गया है। अब देखना यह है कि आखिर कब तक बुलेट ट्रेन तेजस का फाइनल ट्रायल रन पूरा होता है और आम आदमी इसमें सफर कर पाता हैं।

To Top