इस विवाह में लड़का बना दुल्हन और लड़की बनी दूल्हा, जानें क्यों

0
1748
विवाह

आपने बहुत सी शादियां देखी ही होंगी पर क्या आपने किसी ऐसे विवाह को देखा है। जिसमें लड़की दूल्हा तथा लड़का दुल्हन बना हो। शायद नहीं लेकिन हालही में अपने ही देश में एक ऐसा ही विवाह संपन्न हुआ है। देखा जाएं तो अपने देश के हर हिस्से में शादी की अपनी अपनी अलग अलग परम्पराएं होती हैं। कई स्थानों पर ये परम्पराएं काफी अलग तथा अनोखी होती हैं। जिनको देखने के बाद कोई भी हैरान रह जाता है। लेकिन इस प्रकार की कोई परम्परा अपने देश के किसी हिस्से में नहीं है। जिसमें शादी के समय लड़के को दुल्हन तथा लड़की को दूल्हा बनाया जाता हो। आज हम जिस शादी के बारे में आपको यहां बता रहें हैं। वह इसी अनोखी परम्परा के तहत पूरी हुई है। जिसमें लड़की दूल्हा तो लड़का दुल्हन बना। आइये अब विस्तार से जानते हैं इस बारे।

विवाहImage source:

आपको बता दें की यह अनोखी शादी “प्रीतिशा और प्रेम कुमारन” की थी तथा यह चेन्नई में संपन्न हुई है। आपको यह भी बता दें की प्रीतिशा एक लड़के के रूप में पैदा हुई थी तथा प्रेम कुमारन एक लड़की के रूप में। प्रीतिशा ने मिडिया से रूबरू होते हुए कहा की “मैं एक लड़के के रूप में जन्मी थीं लेकिन जब मैं 14 वर्ष की हुई तब मुझे लगा की मेरे अंदर कुछ अलग है जो लड़की जैसा है।” प्रीतिशा और प्रेम कुमारन 6 वर्ष पहले फेसबुक पर मिले थे और बाद में उनकी दोस्ती प्रेम में बदल गई थी। इसी कारण दोनों ने अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर “आत्मसम्मान विवाह” कर लिया तथा एक दूसरे के साथ जीवन भर के लिए जुड़ गए। हम यहां आपको बता दें की आत्मसम्मान विवाह का प्रचलन तकवादी पेरियार ने शुरू किया था। इस विवाह में वे लोग एक दूसरे के साथ जीवन सूत्र में बंध सकते हैं जो किसी भी जाति, धर्म या रीति रिवाजों में न बंध कर विवाह करना चाहते हैं। प्रीतिशा का जन्म 1988 में तमिलनाडु में तिरुनेलवेली के कल्याणीपुरम गांव में हुआ था और वह अपने माता-पिता की तीसरी संतान है। प्रीतिशा वर्तमान में एक प्रोफेशनल स्टेज आर्टिस्ट है। इस प्रकार से यह विवाह अपने आप में अनोखा साबित हुआ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here