_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"wahgazab.com","urls":{"Home":"http://wahgazab.com","Category":"http://wahgazab.com/category/uncategorized/","Archive":"http://wahgazab.com/2018/05/","Post":"http://wahgazab.com/the-daughter-in-law-of-royal-family-meghan-cannot-give-autograph-and-purchase-nail-polish/","Page":"http://wahgazab.com/aadhaar/","Attachment":"http://wahgazab.com/dog-puppy-bought-home-turned-out-as-a-wild-animal/bear-cover/","Nav_menu_item":"http://wahgazab.com/37779/","Custom_css":"http://wahgazab.com/flex-mag/","Oembed_cache":"http://wahgazab.com/e90a5e0b60a6b68d662a8db32927ffdd/","Wpcf7_contact_form":"http://wahgazab.com/?post_type=wpcf7_contact_form&p=38240","Mt_pp":"http://wahgazab.com/?mt_pp=14714"}}_ap_ufee

जानिए फेमस मैकेफी एंटीवायरस को बनाने वाले जॉन मैकेफी की बर्बादी कारण

जॉन मैकेफी

मैकेफी एंटीवायरस के बारे में तो आपने सुना ही होगा। एंटीवायरस में यह एक जाना माना ब्रैंड है। मगर क्या आप इसे बनाने वाले शख्स के बारे में जानते है। हाल ही इसे बनाने वाला इंजीनियर जॉन मैकेफी पुलिस हिरासत से फरार हो गया है। मैकेफी के मुताबिक उसे अमेरिकी सरकार से खतरा है। एक समय पर तरक्की के अर्श पर बैठा मैकेफी आज फर्श पर आ गया है। आपको बता दें कि एक समय पर मैकेफी की नेट वर्थ 100 मिलियन डॉलर यानि 700 करोड़ रुपये थी।

मगर फिर उन्हें नशे की ऐसी लत्त लगी कि उसने उन्हें बर्बाद कर दिया। एक समय पर टैकनॉलजी के माहिर कहे जाने वाले मैकेफी पर आज रेप हत्या जैसे आरोप लगे हुए है। चलिए जानते है मैकेफी की तरक्की व उनकी बर्बादी की कहानी के बारे में।जॉन मैकेफी साल 1945 में अमेरिका के एक आर्मी बेस कैंप में पैदा हुए थे। वहीं उनका पूरा बचपन गुजरा। जब वह 15 साल के हुए तो उनके शराबी पिता ने आत्हत्या कर ली। अपनी पिता की मौत से जॉन को काफी धका पहुंचा और उन्होंने ड्रग्स लेनी शुरु कर दी।

1- ऑफिस में भी लेते थे ड्रग्स

ऑफिस में भी लेते थे ड्रग्सImage source:

बड़े होने पर अपनी काबलियत की बदौलत साल 1980 में उन्हें एक बड़ी सॉफ्टवेयर कंपनी में नौकरी मिली, लेकिन उनकी ड्रग्स की आदत यहां भी उनके साथ ही रही। वह ड्रग्स के इस कदर गुलाम बन गए थे कि वह ऑफिस में भी इसे लेते थे। 1983 में उन्होंने कोकिन का नशा शुरु कर दिया। यही नही वह अपने साथी कलीग्स को भी ड्रग्स लेने को कहते थे। ड्रग्स अडिक्ट बन चुके जॉन में काबलियत की कोई कमी नही थी और अपनी काबलियत को साबित करने का मौका उन्हें तब मिला जब पहला कंप्यूटर वायरस सामने आया। जिसके आगे सभी बेबस हो गए थे। इस वक्त जॉन ने इस वायरस को खुद क्रैक करने की चुनौती ली।

यही वक्त था जब पहला कंप्यूटर वायरस सामने आया था और जॉन ने उसे खुद क्रैक करने का चैलेंज लिया था।

2- इस तरह बने बिजनेस टायकून

इस तरह बने बिजनेस टायकूनImage source:

एक बार वायरस को क्रैक करने के बाद वह इस काम में एक्सपर्ट बन गए और धीरे धीरे वह दुनिया के मशहूर एंटीवायरस एक्सपर्ट के रुप में प्रसिद्ध हो गए। कुछ समय बाद मैकेफी ने अपनी खुद की कंपनी खोल ली, जिसका नाम उन्होंने मैकेफी एसोसिऐट्स रखा। उनकी इस कंपनी ने एंटीवायरस की इंडस्ट्री में एक नई क्रांन्ति जगाई। मैकेफी द्वारा बनाया गया एंटी वायरस काफी प्रसिद्ध हुआ। साल 1994 में उन्होंने अपने इस आइडिया को इंटेल को 60 मिलियन डालर में बेच दिया।

3- फिर शुरू हुई प्लेब्वॉय लाइफे

फिर शुरू हुई प्लेब्वॉय लाइफेImage source:

आइडिया बेच कर कमाए अरबो रुपयों को मैकेफी ने अपने नशे और अय्याशी में उड़ा दिया। उसने दुनिया के कई देशों में महंगे व आलिशान बंगले खरीदे। जिनमे मैक्सिको, कोलाराडो, एरीजोना और हवाई जैसी जगहें शामिल थी। यही नही उसने एक सेक्स क्लब भी खोला, जहां पर वह जमकर अय्याशी करता था।

4- ड्रग्स ने किया बर्बाद

ड्रग्स ने किया बर्बादImage source:

अपनी अय्याशी की धुन में मैकेफी ने गैरकानूनी तरीके से एयरक्राफ्ट भी उड़ाया, जिसके चलते उस पर कई केस दर्ज हुए। इतना ही नही उन्होंने ड्रग्स लेना भी अधिक शुरु कर दी। इस वजह से वह ड्रग्स को लेकर सनकी हो गए थे। यहां तक की वह लोगों को ड्रग्स लेने के फायदे बताते थे। उन्होंने एक एंटीबायोटिक कंपनी भी खोली थी। वह अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर लोगों को बताते थे कि ड्रग्स लेने से उनकी सैक्स लाइफ कैसे सुधर कैसे बेहतर बन सकती है। इस पोस्ट को देखकर स्थानीय पुलिस द्वारा छापा मारा और मैकेफी गिरफ्तार कर लिया गया। हालांकि सबूतो के अभाव के चलते उसे छोड़ दिया गया था।

To Top