भारत में धड़ल्ले से बिक रहे हैं विदेशों में बैन ये 5 सामान

0
433

भारत में ऐसे बहुत से प्रोडक्ट्स हैं जो विदेशों में भी बिकते हैं, क्योंकि ये काफी फेमस प्रोडक्ट्स होते हैं। वहीं दूसरी तरफ बहुत से प्रोडक्ट्स ऐसे भी हैं जो हमारे देश में तो बिकते हैं पर अन्य देशों में इनकी बिक्री नहीं होती, क्योंकि वहां की सरकार ने उनको अपने देश में बैन किया हुआ है। आज हम आपको ऐसे ही कुछ प्रोडक्ट्स के बारे में जानकारी दे रहें हैं जो अपने यहां धड़ल्ले से बिकते हैं, पर कई देशों ने उन पर बैन लगाया हुआ है।

1- रेड बुल-

1Image Source: http://3.bp.blogspot.com/

दुनिया भर में मशहूर हेल्थ ड्रिंक “रेड बुल” को तो आप जानते ही होंगे। भारत में यह काफी प्रचलित है, पर आपको बता दें कि फ्रांस, डेनमार्क सहित कई यूरोपीय देशों ने इस पर बैन लगाया हुआ है। इन देशों का कहना है कि इस ड्रिंक में “केमिकल ट्यूरिन” मिला होने कारण बैन लगाया गया है। कई प्रकार के शोधों से पता लगा है कि केमिकल ट्यूरिन मानव जीवन के लिए नुकसानदेह है।

2- विक्स –

2Image Source: https://i.ytimg.com/

इस प्रोडक्ट को तो आप अच्छे से पहचानते ही होंगे। गले की खराश या सर्दी के लिए भारत में इसका उपयोग भले ही मामूली बात हो, पर यूरोपीय देशों और उत्तरी अमेरिका में यह प्रोडक्ट बैन है। कारण यह बताया जाता है कि विक्स में “इनग्रीडिएंट” पाया है जो काफी हानिप्रद होता है।

3- डी-कोल्ड टोटल और डिस्प्रिन-

3

यह दवा भारत के लगभग हर घर में पायी जाती है। वहीं, ब्रिटेन, अमेरिका और कनाडा सहित कई देशों में यह बैन है। इसके अलावा इस प्रकार की दवाओं की लंबी लिस्ट है जो विदेश में भले ही बैन हो, पर भारत में इनकी बिक्री धड़ल्ले से हो रही है। विदेश में डी-कोल्ड टोटल और डिस्प्रिन को लीवर के लिए खतरनाक माना जाता है।

4- पेस्टीसाइड-

5Image Source: http://images.medicaldaily.com/

शायद आपको पता नहीं होगा कि दुनियाभर के मार्केट में बैन होने के बावजूद करीब 67 पेस्टीसाइड या रासायनिक उर्वरक भारत में धड़ल्ले से बिक रहे हैं। इनमें से कुछ डिमेथोट, फॉस्‍फोमिडॉन, लिंडेन आदि हैं।

5- चुइंग्म-

4Image Source: http://i6.dainikbhaskar.com/

देखा जाए तो भारत में चुइंग्म खाना बहुत ही मामूली बात है, पर सिंगापुर में आप इसको नहीं खा सकते हैं। वहां पर चुइंग्म खाने पर ही नहीं बल्कि इसको बेचने और खरीदने पर भी बैन है। सार्वजानिक स्थानों को साफ़ सुथरा रखने के लिए सिंगापुर की सरकार ने यह पहल की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here