_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"wahgazab.com","urls":{"Home":"http://wahgazab.com","Category":"http://wahgazab.com/category/uncategorized/","Archive":"http://wahgazab.com/2018/01/","Post":"http://wahgazab.com/know-about-these-simple-uses-of-peacock-feather-to-bring-happiness-and-prosperity-to-home/","Page":"http://wahgazab.com/aadhaar/","Attachment":"http://wahgazab.com/because-of-the-stone-hearted-up-police-2-youngsters-lost-their-lives/jijvan-pic/","Nav_menu_item":"http://wahgazab.com/37779/","Custom_css":"http://wahgazab.com/flex-mag/","Wpcf7_contact_form":"http://wahgazab.com/?post_type=wpcf7_contact_form&p=38240","Mt_pp":"http://wahgazab.com/?mt_pp=14714"}}_ap_ufee

जानिये पाकिस्तान आखिर क्यों भारत से एक दिन पहले मनाता है अपना स्वतंत्रता दिवस

स्वतंत्रता दिवस

 

आप लोग यह तो जानते ही होंगे कि पाकिस्तान अपना स्वतंत्रता दिवस 14 अगस्त को मनाता है, पर बहुत कम लोग ही जानते हैं कि पाकिस्तान किस वजह से अपना स्वतंत्रता दिवस भारत के स्वतंत्रता दिवस से एक दिन पहले मनाता है, इसलिए आज हम आपको इस बारे में ही जानकारी दे रहें हैं, ताकि आप उस ऐतिहासिक तथ्य को जान सकें। ऐतिहासिक बात यह है कि 15 अगस्त, 1947 को भारत स्वतंत्र हुआ था और इसी दिन पाकिस्तान भी बना था, पर पाकिस्तान अपना स्वतंत्रता दिवस 14 अगस्त को ही मनाता है। ऐसा आखिर क्यों, इस बारे में कम लोग ही जानते हैं, तो आइए हम आपको बताते हैं पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस को 14 अगस्त के दिन मनाने के पीछे के कारण को।

स्वतंत्रता दिवसImage Source: 

असल में हुआ यह था कि तत्कालीन अंग्रेज हुकूमत ने भारतीय स्वतंत्रता विधेयक के तहत दोनों ही देशों को 15 अगस्त 1947 की तारीख दी थी। इस अधिनियम के प्रथम स्टाम्प में 15 अगस्त की तारीख को स्वतंत्रता दिवस की तारीख बताया गया था। पाकिस्तान के संस्थापक मुहम्मद अली जिन्ना को अपने पहले पते यानि भारत के पते पर एतराज था क्योंकि वे अब पाकिस्तान के निवासी थे। उस समय जिन्ना ने कहा कि “15 अगस्त पाकिस्तान की सम्प्रभुता का दिन है, साथ ही स्वतंत्रता का भी। यह तारीख मुस्लिम राष्ट्र के भाग्य का प्रतीक है, जिसने अपना राष्ट्र बनाने के लिए पिछले कुछ वर्षों में महान त्याग किया है।”, आपको हम बता दें कि 1948 में, पिछले 14 अगस्त 1947 में पाकिस्तान के कराची में सत्ता हस्तांतरण का प्रोग्राम आयोजित किया गया और इसी 14 अगस्त, 1947 को तत्कालीन रमजान का 27 वां दिन था, इसलिए ही तब से 14 अगस्त से ही पाकिस्तान में स्वतंत्रता दिवस मनाया जाने लगा था, जो आज भी जारी है।

Most Popular

To Top