_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"wahgazab.com","urls":{"Home":"http://wahgazab.com","Category":"http://wahgazab.com/category/uncategorized/","Archive":"http://wahgazab.com/2018/04/","Post":"http://wahgazab.com/bottles-of-water-are-being-used-to-save-this-seven-hundred-year-old-tree/","Page":"http://wahgazab.com/aadhaar/","Attachment":"http://wahgazab.com/bottles-of-water-are-being-used-to-save-this-seven-hundred-year-old-tree/glucose-2/","Nav_menu_item":"http://wahgazab.com/37779/","Custom_css":"http://wahgazab.com/flex-mag/","Oembed_cache":"http://wahgazab.com/0f66939619e6f091493652639d567514/","Wpcf7_contact_form":"http://wahgazab.com/?post_type=wpcf7_contact_form&p=38240","Mt_pp":"http://wahgazab.com/?mt_pp=14714"}}_ap_ufee

दुनिया पर भारत के बढ़ते प्रभाव को दर्शाती है यह खबर, विदेशी भी सीख रहें है हिंदी

हिंदी

भारत किस तेजी से विकास कर रहा है। इसका सबूत यह है कि अब विदेशी लोग भी हमारी राष्ट्र भाषा हिंदी सीख रहें हैं। आज के समय भारत के लोग जहां अंग्रेजी भाषा को विकास के लिए आवश्यक समझते है। वहीं दूसरी और अंग्रेज हिंदी भाषा को सीखने की जद्दोजहद में लगे है। आपको बता दें कि ब्रिटेन के एक कॉलेज में हाल ही में हिंदी भाषा को अपने कोर्स में शामिल किया गया है। ब्रिटेन के कॉलेज “पोर्ट्समाउथ” में हिंदी तथा हिंग्लिश को अपने कोर्स में शामिल किया है तथा बहुत से विद्यार्थी इन भाषाओं का अध्ययन कर रहें हैं। इस कोर्स में उन शब्दों को सिखाया जायेगा जो हिंदी तथा अंग्रेजी दोनों भाषाओं में कॉन्टिनेंट के तौर पर यूज किये जाते हैं।

आखिर क्या वजह है Hinglish सिखाने की –

आखिर क्या वजह है Hinglish सिखाने कीImage source:


Hinglish एक ऐसी भाषा है। जिसमें हिंदी तथा अंग्रेजी भाषा के शब्दों का एक मिक्स रूप प्रयोग किया जाता है। अंग्रेजों का मानना है कि भारतीय इकोनॉमी वर्तमान में दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती हुई इकोनॉमी है और उसको समझने के लिए हिंदी तथा हिंग्लिश का ज्ञान होना बहुत आवश्यक है। कोर्स की शुरुआत करने वाला पोर्ट्समाउथ कॉलेज कहता है कि साउथ कॉन्टिनेंट में हिंग्लिश बहुत तेजी से बढ़ रही है इसलिए इसको सीखना काफी जरुरी है।

हिंन्दी फिल्मों से सीख ले रहे हैं अंग्रेज

हिंन्दी फिल्मों से सीख ले रहे हैं अंग्रेजImage source:

पोर्ट्समाउथ कॉलेज के प्रोफेसर विराज शाह का कहना है कि “हमारे कॉलेज के विद्यार्थी बॉलीवुड की हिंदी फिल्मों से भी बहुत कुछ सीख रहें हैं। फिल्मों की स्क्रिप्ट, सब टाइटल तथा उनके नाम आदि से विद्यार्थियों को बहुत कुछ सीखने को मिल रहा है।” इस प्रकार से देखा जाए तो आज हम जहां अंग्रेजी भाषा के पीछे भाग रहें हैं वहीं दूसरी और विदेशी लोग विकास को समझने के लिए हमारी भाषा को सीख रहें हैं। अच्छा हो कि हम अपनी भाषा हिंदी का प्रयोग अधिक करें ताकि लगातार आगे बढ़ते रहें।

 

To Top