यहां विवाह से पहले ही दुल्हन को कर लेते हैं अगवा, करने वाला पाता है ईनाम

विवाह

अलग अलग क्षेत्रों में विवाह को लेकर भिन्न भिन्न मान्यताएं हैं। कुछ इस प्रकार की मान्यताएं तथा प्रथाएं हैं। जिनके बारे में हम लोग जानते ही नहीं हैं। यही कारण है कि इस प्रकार की प्रथाएं हमारी हैरानी का कारण बनती हैं। आज हम आपको एक ऐसे कार्य के बारे में बता रहें हैं। जो काफी समय से चला आ रहा है और आज उसने एक प्रथा का रूप ले लिया है। यह प्रथा इतनी हैरानी भरी है कि आप लोग इसके बारे में जानकर दंग रह जायेंगे।

आज से पहले आपने कई ऐसे किस्से पढ़ें ही होंगे, जिनमें लड़के को अगवा कर जबरन उसकी शादी किसी भी लड़की से करा दी जाती है। लेकिन आज हम आपको एक ऐसे स्थान के बारे में बता रहें हैं। जहां लड़की को अगवा कर उसकी जबरन शादी करा दी जाती है। अब यह एक प्रथा बन चुकी है। आइये जानते हैं इस प्रथा के बारे में।

लड़कियों का कर लिया जाता अपहरण –

लड़कियों का कर लिया जाता अपहरणImage source:

आज के समय में महिलायें भी जागरूक हो चुकी हैं। कई बड़े संघठन इनके हक को दिलाने के लिए इनके साथ खड़े हैं। परंतु आज भी कुछ स्थान ऐसे हैं। जहां इनके सम्मान को इस कदर कुचला जाता है कि ये अपनी आवाज तक नहीं उठा पाती हैं। आज हम आपको एक ऐसे ही स्थान के बारे में बता रहें हैं। जहां लड़कियों के साथ ऐसा ही कुछ होता है। इस स्थान का नाम किर्गिस्तान है। यहां पर लड़कियों को सरेआम सड़क से उठा लिया जाता है। किर्गिस्तान में अब इस शर्मनाक कार्य ने एक प्रथा का रूप ले लिया है। लड़की को सरेआम अगवा कर कुछ समय बाद में छोड़ दिया जाता है। ऐसा होने के बाद लड़की की हर जगह बदनामी हो जाती है। इस बदनामी के बाद ही लड़की का असल संघर्ष शुरू होता है और अंततः उसको उसी लड़के से विवाह करना पड़ता है।

यह भी पढ़ें – इस देश में जबरन होती है दुगनी उम्र से भी ज्यादा के लड़को से लड़कियों की शादी

3 वर्ष की जेल तथा जुर्माने का है प्रावधान –

3 वर्ष की जेल तथा जुर्माने का है प्रावधान Image source:

कोलपोन मेतेवेवा एक ऐसी ही लड़की थी। जिसका अपहरण विवाह के लिए ही किया गया था। विवाह के बाद उसके साथ उसका पति मार पीट करने लगा। करीब एक दशक तक यह सब सहने के बाद जब कोलपोन मेतेवेवा ने अपने पति से तलाक मांगा तो उसके पति ने उसकी हत्या कर डाली। अब उस महिला का पति जेल में 19 वर्ष का कठोर कारावास काट रहा है। जब कोलपोन मेतेवेवा का अपहरण हुआ था तो उसकी उम्र महज 19 वर्ष थी। वह अपने अपहरणकर्ता से विवाह करना नहीं चाहती थी लेकिन सभी लड़कियों की ही तरह मजबूरी में उसको ऐसा करना पड़ा। किर्गिस्तान में ऐसा करने वाले व्यक्ति के लिए 3 वर्ष की जेल तथा जुर्माने की सजा का प्रावधान है लेकिन आज भी यह प्रथा किर्गिस्तान में चल रही है।

To Top