तो इसलिए भारत में 3 व विदेशों में 4 ब्लेड वाले हैं पंखे

0
757

भारत की संस्कृति और सभ्यता पुरातन काल से ही अन्य देशों से अलग रही है और इसका कारण है यहां की विविधता। आज भी दुनिया के कई देशों में जो वस्तुयें रोजमर्रा के जीवन में प्रयोग की जाती हैं, वे भारत में भी यूज होती हैं लेकिन यहां पर कलात्मकता भारत की विविधता के अनुसार बदल जाती है। ऐसी ही रोजमर्रा के जीवन से जुड़ी हुई एक वस्तु के बारे में आज हम आपको बता रहे हैं, जिसका नाम है पंखा।

जी हां पंखा, शायद आप नहीं जानते होंगे कि भारत के जिस पंखे में 3 ब्लेड का यूज किया जाता है, विदेशों के उसी पंखे में 4 ब्लेड लगे होते हैं। हालांकि दोनों का काम हवा देना ही होता है, पर क्या कभी आपने सोचा है कि भारत के पंखे में आखिर 1 ब्लेड क्यों कम होता है। आज हम आपको इस खास कारण के बारे में बताएंगे और तब आप सही से समझ भी सकेंगे कि भारत में मौसम की विविधता के कारण ही इस प्रकार के परिवर्तन किये जाते हैं।

क्या है रहस्य –

असल में अमेरिका व अन्य देशों में पंखे का इस्तेमाल एसी का पूरी तरह फायदा लेने के लिये किया जाता है, ताकि पंखे के जरिये एसी की हवा पूरे कमरे में फ़ैल सके। इन पंखों का उद्देश्य हवा को पूरे कमरे में फैलाना ही होता है। 4 पंखों का होने की वजह से यह धीमे-धीमे चलता है और अपने काम को अच्छे से कर पाता है। वहीं, दूसरी ओर भारत के मौसम में लगातार परिवर्तन होता है। यहां पर 3 मौसम चलते हैं। जब गर्मी का मौसम आता है तो यहां पर लोगों को पंखे की आवश्यकता महसूस होती है क्योंकि 3 ब्लेड वाला पंखा हल्का होता है और तेज़ चलता है। इसीलिए भारत में 3 ब्लेड वाला पंखा अधिक इस्तेमाल किया जाता है।

fanImage Source: http://www.patrika.com/

इस प्रकार से विदेशों में एसी की हवा को फ़ैलाने के उद्देश्य से 4 ब्लेड वाले पंखे का इस्तेमाल किया जाता है और अपने देश में जल्द ही हवा पाने के लिए 3 ब्लेड वाला पंखा चलाया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here