फेसबुक पर “जय माता दी” नहीं लिखने पर युवक की किस्मत हुई ख़राब, जानिये इस बारे में

फेसबुक

 

आजकल “सोशल मीडिया” पर ही आपकी किस्मत का फैसला पल भर में हो जाता हैं। जी हां, आपने कई बार ऐसी तस्वीरें सोशल मीडिया पर देखी होंगी जिनमें किसी मंदिर या देवी देवताओं की तस्वीर होती हैं। इस प्रकार की तस्वीर डालने वाले लोग अक्सर इनके कमेंट में तस्वीरों वाले देवी देवताओं की जय जयकार करने और अपना दिन अच्छा बनाने के लिए दरखास्त करते हैं। आज से कुछ समय पहले सुबह सुबह आने वाले टीवी शो के ज्योतिषी आपकी रोज की किस्मत बताते थे, पर अब सोशल मीडिया प्लेटफोर्म फेसबुक, व्हटसअप इत्यादि के आने के बाद सब कुछ बदल गया हैं।

अब आपकी किस्मत का फैसला सिर्फ एक कमेंट पर ही निर्भर हो गया हैं। बहुत से लोग इस प्रकार की तस्वीरों को फर्जी मानते हैं या उनको झूठ मानते हैं, पर जब हमने इस बारे में पता लगाने के लिए सर्वे किया तो नतीजे चौकाने वाले आये। आइये जानते हैं इन नतीजों के बारे में।

फेसबुकImage Source:

केस 1 – दिल्ली के रोहिणी निवासी “विकास चम्पक” फेसबुक चलाने के बहुत शौकीन हैं। हाल ही में फेसबुक पर उनके पास एक तस्वीर आई। यह “वैष्णो देवी” माता की तस्वीर थी। इसके नीचे लिखा था “कमेंट में लिखे जय मां वैष्णो देवी और अपने दिन को लकी बनाये” विकास को ऐसी बातें हमेशा से झूठ लगती थी इसलिए उसने कमेंट में कुछ नहीं लिखा।

इसके बाद में अचानक ही उसका फेसबुक अकाउंट चलना बंद हो गया और उसका फोन भी कुछ समय बाद ख़राब हो गया। विकास ने बताया की जब उसने अपने घर के पास वाले “माता मंदिर” में प्रसाद चढ़ाया और अपनी गलती की माफ़ी मांगी तब जाकर उसका मोबाइल सही हुआ।

फेसबुकImage Source:

केस 2 – इसी प्रकार का एक केस दिल्ली के ही चावड़ी बाजार निवासी “अब्दुल रहमान” के साथ भी हुआ। इस बारे में बताते हुए रहमान कहते हैं कि वे फेसबुक का बहुत शौंक रखते हैं। एक बार उनको किसी दरगाह की तस्वीर अपनी वॉल पर दिखाई दी थी साथ ही में कमेंट में “या अली” लिखने की सलाह भी दी गई थी। जब उन्होंने इस बात को मजाक में लेकर ऐसा नहीं किया तो अचानक ही उनके मुर्गो को “सोर्स” की बिमारी हो गई जिसके चलते उनका धंधा बंद हो गया।

इस घटना के बाद वे तुरंत मौलवी साहब से मिले और मौलवी साहब ने उनको जल्दी ही पीर बाबा की दरगाह पर चादर चढाने की सलाह दी। जब रहमान ने यह काम किया तब चमत्कारिक रूप से इस परेशानी से उनका पीछा छूट गया।

इस प्रकार के मामलों को देख कर अब “अखिल दिल्ली फेसबुकिया संघ” ने मार्क ज़ुकेरबर्ग को पत्र लिख कर फेसबुक के लोगो में “जय माता दी” शब्द जोड़ने की सलाह दी हैं ताकि लोग कमेंट में जय माता दी लिख कर अपनी किस्मत को अच्छा कर सकें।

विशेष नोट- इस तरह के आलेख से हमारा उद्देश्य केवल आपका मनोरंजन करना हैं। इसमें मौजूद नाम, संस्था और राजनीतिक पार्टियों की छवि को धूमिल करना हमारा उद्देश्य नहीं हैं। साथ ही इसमें बताया गया घटनाक्रम मात्र काल्पनिक हैं। अगर इससे कोई आहत होता हैं तो हमें बेहद खेद हैं।

To Top