जाने इस मोबाइल नंबर के बारें में जिसने ली तीन लोगों की जान…

मोबाइल नंबर

दुनिया में कुछ चीजें ऐसी अनोखी होती हैं जिनके बारे में जानकर हर कोई हैरान हो जाता है, ऐसा ही एक मोबाइल नम्बर है जो लंबे समय तक सुर्खियों मे बना रहा, इसके पीछे छिपे राज का कारण मौत थी। जानकर आप हैरान होगें पर ये बात सच है कि जिसके पास ये मोबाइल न. गया वह उसकी मौत का कारण बना। यह अब तक की कोई पहली घटना नहीं थी यह न. अब तक तीन लोगों को निगल चुका था।

सभी को चौका देने वाली यह घटना बुल्गारिया की है। यहां पर इस नंबर को सबसे पहले मोबीटेल कंपनी के सीईओ ने खरीदा था। कंपनी के सीईओ व्लादमीर गेसनोव ने (मोबाइल न. 0888888888) सबसे पहले खुद के लिए जारी करवाया था। इसके खरीदने के बाद ही साल 2001 में व्लादमीर की मौत कैंसर बनकर आ गई।

मोबाइल नंबर

ऐसा बताया जाता है कि कैंसर से मौत होने की अफवाह उनके दुश्मनों के द्वारा फैलाई गई थी, जबकि मौत की असली वजह कुछ और ही थी। लेकिन जानकारों के अनुसार इनकी मौत की वजह यह मोबाइल नंबर ही था।

व्लादमीर के बाद इस मोबाइल नंबर को डिमेत्रोव नाम के एक खुख्यात ड्रग डीलर के नाम हुआ, इस मोबाइल नंबर को लेने के बाद डिमेत्रोव की साल 2003 में हत्या कर दी गई। और डिमेत्रोव की हत्या करने वाला था रशियन माफिया। आपको बतादें कि डिमेत्राव का ड्रग साम्राज्य 500 मिलियन का था।

और जब डिमेत्रोव की मौत हुई उस वक्त ये नंबर उसी के पास था। इस नंबर के रहस्य का सिलसिला यहीं नहीं थमा डिमेत्रोव की मौत के बाद यह नंबर बुल्गारिया के एक व्यापारी डिसलिव के पास पहुंचा।

लेकिन ये खतरनाक नंबर ज्यादा दिन डिसलिव के पास नहीं टिक पाया साल 2005 में बुल्गारिया की राजधानी सोफिया में इस व्यापारी को भी मौत के घाट उतार दिया गया। डिसलिव एक कोकीन सप्लायर था। लगातार तीन मौतों के बाद इस विवादित नंबर को आखिर 2005 में हमेशा हमेशा के लिए बंद कर दिया गया। और इस नंबर का रहस्य भी हमेशा हमेशा के लिए दफ्न हो गया।

To Top