‘इंडिया टूरिज्म डे’ पर जानें ताजमहल से जुड़े खास तथ्य

ताजमहल भारत की एक ऐसी मारत है जो विश्वभर में अपनी ख़ूबसूरती के लिए जानी जाती है। प्रत्येक साल देश-विदेश से लाखों लोग ताज को देखने के लिए भारत आते हैं, पर उनको ताजमहल के उन खास तथ्यों की जानकारी नहीं होती जिनकी नींव पर यह खूबसूरत मारत खड़ी हुई है। आज हम आपको ताज के उन खास फैक्ट्स के बारे में ही बताने जा रहे हैं।

1- सात लाख में बेच दिया गया था ताजमहल –

बहुत ही कम लोग यह जानते हैं कि अंग्रेजों ने ताज को महज 7 लाख में नीलाम कर दिया था। असल में इसको तोड़ने की योजना थी ताकि इसके कीमती पत्थरों को इंग्लैंड ले जाया जाये। 26 जुलाई 1831 को पहली बार इसे बेचने का विज्ञापन अखबार में प्रकाशित हुआ था। लंदन में इसकी नीलामी पर सवाल उठे और काफी बहस हुई थी। बाद में गवर्नर जनरल लार्ड विलियम बैंटिक ने इस नीलामी को निरस्त कर दिया था।
यह जानकारी प्रसिद्ध इतिहासकार प्रोफ़ेसर रामनाथ ने “द ताजमहल बुक” में दी है।

image1Image Source: http://i9.dainikbhaskar.com/

2- हनीमून मनाने के लिए किराये पर दिया जाता था मेहमानखाना –

आपने देखा ही होगा कि ताजमहल के दोनों ओर लाल रंग की बिल्डिंग बनी है, जिनमें से एक मेहमानखाना है और एक मस्जिद। बहुत ही कम लोग जानते हैं कि मेहमानखाने को अंग्रेज सरकार द्वारा हनीमून मनाने के लिए किराये पर भी दिया जाता था। हालांकि उस समय इसका कितना किराया वसूल किया जाता था इसका कोई रिकॉर्ड उपलब्ध नहीं है।

image2Image Source: http://i9.dainikbhaskar.com/

 3- लड़ाकों से बचाने के लिए ढक दिया था ताज को –

बहुत ही कम लोग जानते हैं कि दि्वतीय विश्व युद्ध के समय ताजमहल को खतरा था। उस समय ब्रिटेन ने अमेरिकन सेना के सहयोग से ताज को बांस और बल्लियों से पूरा ढक दिया था ताकि जापान के लड़ाकू विमानों को धोखा दिया जा सके। असल में दि्वतीय विश्व युद्ध के दौरान मित्र देशों ब्रिटेन, अमेरिका आदि को खुफिया सूचना मिली थी कि जापान और जर्मनी ताज पर बम से हमला करने वाले हैं। इसी वजह से ताज को बांस और बल्लियों से ढक दिया गया था।

image3Image Source: http://i9.dainikbhaskar.com/

4- तहखाने में है असली कब्र –

शायद ही आप जानते होंगे कि ताज में आपको दिखने वाली कब्र असली नहीं है। असली कब्र तहखाने में है। मुमताज और शाहजहां दोनों की असली कब्र ताजमहल के तहखाने में है। मुमताज की कब्र पर अल्लाह के 99 नाम लिखे हैं। कहा जाता है कि तहखाने की इन कब्रों की नक्काशी ऊपर की नकली कब्रों से बहुत ही सुंदर है।

image4Image Source: http://i9.dainikbhaskar.com/

5- मशहूर डायना बेंच पहले नहीं थी –

ताजमहल में एक खास प्रकार की सीट आपने भी देखी ही होगी। पर्यटक इस सीट पर फोटो खिंचवाने को लेकर काफी उत्साहित रहते हैं। इस विशेष सीट को आप ताज के सेन्ट्रल एरिया में देख सकते हैं। इस सीट को “डायना बेंच” कहा जाता है, लेकिन शायद आपको यह जानकारी नहीं होगी कि शाहजहां ने ताज महल में इस प्रकार की किसी भी सीट को नहीं बनवाया था। इस सीट का निर्माण अंग्रेजों ने कराया था। बाद में प्रिंस चार्ल्स की पत्नी “डायना” ने इस पर बैठ कर फोटो खिंचवाई थी। तब से यह सीट “डायना सीट” के नाम से फेमस हो गई।

imag5

Imagr Source: http://i9.dainikbhaskar.com/
To Top