700 वर्ष के इस पेड़ को बचाने के लिए लगाईं जा रही हैं पानी की बोतलें

पेड़

क्या बीमार पेड़ को भी इंसानों की तरह बोतल लगाकर सही किया जा सकता है। असल में ऐसा हो रहा है। वह भी अपने ही देश में। आप यह तो जानते ही होंगे की पेड़ भी आम लोगों की तरह जीवित रहते हैं। खाना पीना भी करते हैं और सांस भी लेते हैं। लेकिन क्या आपने कभी सोचा की वे बीमार होने पर क्या करते हैं। इस बारे में सभी लोग चुप हैं लेकिन एक पेड़ को बचाने के लिए डॉक्टरी बोतल चढ़ाई जा रहीं हैं।

तेलंगाना में है यह पेड़ –

तेलंगाना में है यह पेड़Image source:

आपको बता दें की यह पेड़ तेलंगाना में है। यह दुनियां का दूसरा सबसे प्राचीन पेड़ है। इस पेड़ के एक हिस्से को दीमक ने जर्जर बना डाला है। अब यह पेड़ बूढ़ा हो चुका है इसलिए ही वर्तमान में सेलाइन ड्रिप की सहायता से इस पेड़ में दवा डाली जा रही है। यह पेड़ तीन एकड़ में फैला हुआ है और इसको बचाने के लिए सरकार प्रयास कर रही हैं। पेड़ पर हर 2 मीटर की दूरी पर बोतल लटकाई गया है जिससे दवा पेड़ में जा रही है। इस प्रकार से पेड़ को तंदरुस्त बनाने की कोशिश की जा रही है।

तेलंगाना में है यह पेड़Image source:

 पेड़ की बड़ी शाखाएं नीचे न गिर सकें इसलिए उनको सपोर्ट देने के लिए सीमेंट की कुछ दीवारें भी शाखाओं के नीचे बनाई गई हैं। पहले इस पेड़ की जड़ में केमिकल डाला गया था परंतु उसककोई असर नहीं पड़ा। अब ड्रीप के जरिये पेड़ में दवाई भेजी जा रही है। लोगों का कहना है की इस तरीके का कुछ असर पेड़ पर दिखाई दिया है। महबूबनगर के जिला वन अधिकारी गंगा रेड्डी ने बताया की “जिला अधिकारी इस पुरे मामले पर अपनी नजर बनाएं हुए हैं तथा अन्य जानकार लोगों से भी बात की जा रही है।” इस प्रकार से देखा जाएं तो पूरा प्रशासन पेड़ को बचाने की कवायद में जुटा हुआ है।

To Top