_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"wahgazab.com","urls":{"Home":"http://wahgazab.com","Category":"http://wahgazab.com/category/uncategorized/","Archive":"http://wahgazab.com/2018/04/","Post":"http://wahgazab.com/will-you-eat-or-decorate-this-banana-worth-87000/","Page":"http://wahgazab.com/aadhaar/","Attachment":"http://wahgazab.com/will-you-eat-or-decorate-this-banana-worth-87000/banana-cover/","Nav_menu_item":"http://wahgazab.com/37779/","Custom_css":"http://wahgazab.com/flex-mag/","Oembed_cache":"http://wahgazab.com/73fc61f08fdcf71b6cf8325880872cf3/","Wpcf7_contact_form":"http://wahgazab.com/?post_type=wpcf7_contact_form&p=38240","Mt_pp":"http://wahgazab.com/?mt_pp=14714"}}_ap_ufee

बलात्कार पर बेशर्म बयान, कहा-जींस पहनने वाली लड़कियों का रेप करना हैं नेशनल ड्यूटी

a lawyer from egypt makes a controversial statement about rape considering it national duty cover

क्या बलात्कार करना भी किसी देश की नेशनल ड्यूटी हो सकता हैं। हाल ही में इस देश ने बलात्कार को नेशन ड्यूटी की संज्ञा दी हैं। हम बात कर रहें हैं मिस्र देश की। यहां के एक वकील ने लड़कियों के छोटे कपड़े तथा जींस को लेकर एक बेशर्म बयान दिया हैं। इस वकील ने जींस तथा छोटे कपड़े पहनने वाली लड़कियों का रेप करने को नेशनल ड्यूटी बता कर बलात्कारियो को खुली छूट दे दी हैं। रेप कल्चर नेशनल ड्यूटी कहने वाले इस वकील का नाम “नबीह अल-वाहश” हैं।

नबीह ने इस बारे में कहा हैं कि जो लड़कियां छोटे कपड़े पहनती हैं या फटी हुई फैशनेबल जींस पहनती हैं। उन सभी का रेप करना पेट्रियोटिज़म (देशभक्ती) हैं। यह बात नबीह ने उस समय कही जब वे एक टीवी प्रोग्राम में प्रॉस्टीट्यूशन को लेकर बनाए गए कानून पर बात कर रहें थे।

a lawyer from egypt makes a controversial statement about rape considering it national dutyimage source:

नबीह ने इस चर्चा के दौरान कहा कि “जब आप सड़क पर चल रहें होते हैं और किसी ऐसी लड़की को देखते हैं जिसके आधे शरीर पर कपड़े होते हैं और आधे पर नहीं तो क्या आप खुश होते हैं। बात को आगे बढ़ाते हुए नबीह ने बोले जिन लड़कियों का शरीर कपड़ों से बाहर दिखाई देता हैं उनका रेप करना नेशनल ड्यूटी हैं।” नबीह के इस बयान पर बड़ा विवाद खड़ा हो गया और उनके ऊपर नेशनल काउंसिल की एक महिला डॉक्टर ने शिकायत दर्ज करा डाली।

इस बारे में मिस्र के नेशनल काउंसिल फॉर वीमेन ने यह कहा हैं कि इस प्रकार के बयानों को टीवी पर स्थान नहीं मिलना चाहिए क्योंकि इस प्रकार की बातों से महिलाओं के प्रति उत्पीड़न और हिंसा में बढ़ोतरी होती हैं। अब देखना यह हैं कि क्या मिस्र में रेप कल्चर को बढ़ावा मिलता हैं या नबीह जैसे लोग अपने शब्दों के लिए देश से माफ़ी मांगते हैं।

To Top