_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"wahgazab.com","urls":{"Home":"http://wahgazab.com","Category":"http://wahgazab.com/category/uncategorized/","Archive":"http://wahgazab.com/2018/04/","Post":"http://wahgazab.com/why-does-india-media-want-to-spread-communalism-in-society/","Page":"http://wahgazab.com/aadhaar/","Attachment":"http://wahgazab.com/?attachment_id=47087","Nav_menu_item":"http://wahgazab.com/37779/","Custom_css":"http://wahgazab.com/flex-mag/","Oembed_cache":"http://wahgazab.com/0cab49f4a984d87c1382d7dd16b7e109/","Wpcf7_contact_form":"http://wahgazab.com/?post_type=wpcf7_contact_form&p=38240","Mt_pp":"http://wahgazab.com/?mt_pp=14714"}}_ap_ufee

पत्नी की ज़िद के कारण “अक्षय कुमार” बन गया यह ऑटो ड्राइवर

this auto rickshaw driver becomes akshay kumar to please his wife cover

खबर मुंबई से हैं, जहां एक ऑटो ड्राइवर अपनी पत्नी की ज़िद के कारण ”अक्षय कुमार” बन गया हैं। आपने कुछ समय पहले आई अभिनेता अक्षय कुमार की फिल्म “टॉयलेट-एक प्रेम कथा” तो देखी ही होगी। इस फिल्म को लोगों द्वारा काफी पसंद किया गया। इस फिल्म में दिखाया गया था कि गांव में शादी कर आई एक बहू अपनी ससुराल को छोड़कर वापिस अपने मायके चली जाती हैं और वह उस समय तक वापिस नहीं आती जब तक की ससुराल में टॉयलेट नहीं बनाया गया। कुछ इसी तरह का वाक्या मुंबई में सामने आया हैं।

दरअसल यहां एक ऑटो ड्राइवर की पत्नी तथा बेटी इसलिए उसका साथ छोड़ कर चली गई क्योंकि गांव में टॉयलेट नहीं हैं। इसके बाद इस ऑटो ड्राइवर ने यह फैसला किया कि वह अपने गांव में टॉयलेट बनवा कर रहेगा चाहे इस काम के लिए उसको बैंक से लोन ही क्यों न लेना पड़े।

this auto rickshaw driver becomes akshay kumar to please his wifeimage source:

इस ऑटो ड्राइवर ने “ह्यूमन्स ऑफ बॉम्बे” नामक फेसबुक पेज पर अपने विचार शेयर किये। पेज पर ऑटो ड्राइवर ने लिखा कि “मुझे पता हैं यह एक छोटा सा सपना हैं पर अब यही मेरे लिए सबकुछ हैं।”, देखा जाए तो इस प्यक्ति के विचार बहुत प्रेरणादायी हैं और इस व्यक्ति ने जिस प्रकार से अपने विचार फेसबुक पेज पर व्यक्त किये हैं उससे आपका दिल भी पिघल जायेगा। ऑटो ड्राइवर ने अपना नाम नहीं बताया पर इतना जरूर कहा कि उनके गांव में टॉयलेट समेत अन्य बुनियादी सुविधाएँ नहीं हैं इसलिए उनकी बेटी तथा पत्नी उनका साथ छोड़ कर जा चुकी हैं।

इस ऑटो ड्राइवर ने यह भी बताया कि “जब उसको पता लगा की उनकी बेटी तथा पत्नी सिर्फ रात को ही टॉयलेट जाती हैं ताकि उन पर किसी अन्य की नजर न पड़े तो वह बहुत परेशान हो गया।” उन्होंने आगे बताया कि अब उनका एकमात्र लक्ष्य गांव में टॉयलेट का निर्माण करवाना हैं ताकि उनके गांव की बहू बेटियों को किसी प्रकार की परेशानी का सामना न करना पड़े। इस प्रकार मुंबई का यह ऑटो ड्राइवर अपनी पत्नी की ज़िद के आगे टॉयलेट एक प्रेम कथा फिल्म वाला अक्षय कुमार बन गया हैं। अब बस यह देखना हैं कि फिल्म की ही तरह यह भी अपने गांव में टॉयलेट बनवा कर अपनी बीवी को वापिस ला पता हैं या नहीं।

To Top