भारत पर पाक ने लगाया उसकी मिसाइल के फ्यूज कंडक्टर चोरी करने का आरोप, मिसाइल लांच हो गया था फेल

Pakistan blames india for stealing missile fuse conductor cover

पाकिस्तान की टेक्नोलॉजी कैसी है, यह किसी से छुपा नहीं है, हाल ही में उसका सैटेलाइट लांच फेल हो गया, तो उसने इसका आरोप भारत पर ही लगा दिया है। इस बात को तो आप जानते ही हैं कि पाकिस्तान सभी देशों की होड़ करने की पूरी कोशिश करता है। यदि वह सफल हो जाता है तो उसका क्रेडिट चीन ले जाता है और यदि असफल हो जाता है तब सारा आरोप वह भारत पर लगा देता है। हाल ही में ऐसा ही मामला देखने को मिला है जब पाकिस्तान का एक रॉकेट हिज्बुल मुजाहिद्दीन (HM-4) की लांचिंग फेल हो गई।

असल में हुआ यह था कि कुछ समय पहले भारत ने GSLV मार्क-3 रॉकेट का प्रक्षेपण सफलतापूर्वक किया था। इसी बात को ध्यान में रखते हुए पाक ने भी अपने देश से हिज्बुल मुजाहिद्दीन (HM-4) का प्रक्षेपण किया, पर वह रॉकेट किसी बेकार पटाखे की तरह लांचिंग से पहले ही फुस्स हो गया। बस इस बात पर भन्नाये हुए पाकिस्तान ने भारत पर उसके रॉकेट के फ्यूज कंडक्टर चोरी करने का आरोप लगा दिया।

Pakistan blames india for stealing missile fuse conductorimage source:

पाकिस्तान स्पेस रिसर्च ऑर्गेनाईजेशन के प्रेसिडेंट बिलाबल फट ने बिलबिलाते हुए मीडिया से कहा “सभी कुछ बराबर और सही था। हमने लांचिंग से एक हफ्ते पहले अपने रॉकेट को सीलन से बचाने के लिए धूप में भी रखा था पर शायद इस बार भी भारत ने हमें धोखा दे दिया। हमें लगता है कि भारत ने हमारे रॉकेट के फ्यूज कंडक्टर चोरी कर लिए जिसके कारण रॉकेट की लांचिंग नहीं हो पाई।”, आगे बिलाबल फट ने कहा “हमें लगता है कि यह काम भारत के ब्रिगेडियर सूर्यदेव सिंह के छोटे भाई चंद्रदेव सिंह ने किया है क्योंकि मृत्यु से पहले वे इस फार्मूले को अपने छोटे भाई को बता चुके थे। मतलब साफ है कि भारत ने ही हमारे रॉकेट के फ्यूज कंडक्टर चोरी कर हमारे मिशन का भट्टा बैठाया है।”

भारत ने पाकिस्तान के इस आरोप को सिरे से खारिज कर दिया है और इस आरोप को बॉलीवुड से प्रेरित बताया है। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने “कड़ी निंदा” करते हुए कहा है कि “चीनी माल यूज करेंगे तो रॉकेट फुस्स होगा ही।”

विशेष नोट- इस तरह के आलेख से हमारा उद्देश्य केवल आपका मनोरंजन करना है। इसमें मौजूद नाम, संस्था और राजनीतिक पार्टियों की छवि को धूमिल करना हमारा उद्देश्य नहीं है। साथ ही इसमें बताया गया घटनाक्रम मात्र काल्पनिक है। अगर इससे कोई आहत होता है तो हमें बेहद खेद हैं।

To Top