_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"wahgazab.com","urls":{"Home":"http://wahgazab.com","Category":"http://wahgazab.com/category/uncategorized/","Archive":"http://wahgazab.com/2018/04/","Post":"http://wahgazab.com/bottles-of-water-are-being-used-to-save-this-seven-hundred-year-old-tree/","Page":"http://wahgazab.com/aadhaar/","Attachment":"http://wahgazab.com/bottles-of-water-are-being-used-to-save-this-seven-hundred-year-old-tree/glucose-2/","Nav_menu_item":"http://wahgazab.com/37779/","Custom_css":"http://wahgazab.com/flex-mag/","Oembed_cache":"http://wahgazab.com/0f66939619e6f091493652639d567514/","Wpcf7_contact_form":"http://wahgazab.com/?post_type=wpcf7_contact_form&p=38240","Mt_pp":"http://wahgazab.com/?mt_pp=14714"}}_ap_ufee

पोखरामा सूर्य मंदिर – SBI मैनेजर को सपने में मिला था इस मंदिर के निर्माण का सन्देश, जानिये इसके बारे में

पोखरामा सूर्य मंदिर

 

वैसे तो हमारे देश में बहुत से मंदिर हैं पर आज हम आपको एक ऐसे मंदिर के बारे में बता रहें हैं जिसका निर्माण एक सपने में दिए सन्देश के तहत हुआ था। जी हां, आज हम आपको एक ऐसे मंदिर एक बारे में बताने जा रहे हैं जिसका निर्माण एक सपने के कारण हुआ था। आपको बता दें कि यह सूर्यदेव का मंदिर हैं जोकि बिहार राज्य के लखीसराय जिले के अंतर्गत आने वाले पोखरामा नामक गांव में स्थित हैं। असल में पोखरामा गांव को सूर्यवंशियो का गढ़ कहा जाता हैं। इस पोखरामा सूर्य मंदिर का निर्माण मोतिहारी के SBI बैंक मैनेजर ने करवाया था।

सपने में मिला था मंदिर निर्माण का सन्देश –

पोखरामा सूर्य मंदिरImage Source: 

बिहार के मोतिहारी क्षेत्र स्थित SBI बैंक मैनेजर रामकिशोर सिंह ने इस सूर्य मंदिर को निर्मित करवाया हैं। असल में सन 1998 में रात को सोते समय रामकिशोर को सपने में एक सन्यासी को दिखा। जिसने रामकिशोर सिंह को सूर्य मंदिर निर्माण करवाने का आदेश दिया था। सुबह रामकिशोर ने यह बात अपने सभी परिजनों को बताई और मंदिर निर्माण करने का मन बनाया।

इसके बाद उन्होंने अपनी जमीन पर ही मंदिर का निर्माण किया जोकि आज पोखरामा सूर्य मंदिर के नाम से जाना जाता हैं। इस मंदिर के निर्मित होने के बाद बड़ी संख्या में लोग यहां आने लगे और करीब 10 वर्ष में ही यह मंदिर काफी प्रसिद्ध हो गया। वर्तमान में इस मंदिर के परिसर में कई अन्य मंदिर तथा सामुदायिक भवन आदि निर्मित हो चुके हैं। छठ पर्व पर इस स्थान पर भव्य मेला लगता हैं जहां बड़ी संख्या में भक्त पहुंचते हैं।

Video Source: 
To Top